असम: अब देश की सबसे उम्रदराज बाघिन की दहाड़ असम के चिड़ियाघर में सुनने को नहीं मिलेगी. भारत की सबसे बुजुर्ग बाघिन की मौत हो गई है. इस बाघिन का नाम स्वाति था और वो 21 साल की थी, मगर अब वो लोगों को नहीं दिखेगी. 
 
शेरनी स्वाति का जन्म 28 जनवरी 1997 को हुआ था, मगर वो 21 साल की उम्र में गुवाहाटी चिड़ियाघर में मर गई. इसे भारत का सबसे बुजुर्ग बाघ माना जाता है. 
 
 
गुवाहाटी चिड़ियाघर के डीएफओ तेजस मंनस्वामी ने इस बात की पुष्टि की है कि स्वाति के देश की सबसे बुजुर्ग बाघिन थी. साथ ही उन्होंने इसकी मृत्यु की वजह उसके बुढ़ापे को बताया है.
उन्होंने कहा कि बाघ की जीने की औसत उम्र 21 साल है और मानव की 100 साल की उम्र के बराबर है. बताया जा रहा है कि पिछले कुछ समय से बाघिन बीमार चल रही थी.