पटना. आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और बिहार के सीएम नीतीश कुमार के बीच ट्वीट के जरिये शुरू हुआ विवाद अब थमता नज़र आ रहा है. नीतीश के सफाई देने के बाद लालू ने उनसे मुलाक़ात की और मीडिया से कहा कि हम बीजेपी को बिहार से साफ़ करने के लिए साथ-साथ हैं. बाद में लालू ने अपने ट्विटर पर एक पोस्ट में कहा कि मैं भाजपा का भगवान हूं. मेरे नाम की माला जपे बिना इनके दिन की शुरुआत नहीं होती, खाना नहीं पचता. ये सपनों में भी मेरा ही दर्शन करते हैं. 

 

बीजेपी वालों का भगवान हूँ मेरे नाम की माला ज़पे बिना इनके दिन की शुरुआत नहीं होती,खाना नहीं पचता। ये सपनों में भी मेरे ही दर्शन करते है।

— Lalu Prasad Yadav (@laluprasadrjd) July 23, 2015

मुजफ्फरपुर रवाना होने के पूर्व अपने आवास पर  मीडिया से बातचीत में कहा कि भाजपा के लोग डरपोक हैं. जनता को डराने के लिए अपनी सुरक्षा बढ़ा रहे हैं. केंद्र सरकार हर मोर्चा पर फेल है, देश की जनता का धैर्य टूट रहा है. उन्होंने ताजा सर्वे पर प्रतिक्रिया में कहा कि कैसे सर्वे होता है, हमको पता है. कौन जनता से पूछ के सर्वे हुआ है. बिहार में किसी से कोई लड़ाई ही नहीं है. उधर मुजफफरपुर की रैली में कहा कि गरीबों को दो वक्त की रोटी नहीं मिल पा रही है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कहते हैं कि सूर्य नमस्कार करो. प्रसाद ने आरोप लगाया कि भाजपा उन्हें नीतीश कुमार से लड़ाने की हर दिन कोई-कोई न साजिश करती है.