नई दिल्ली: कोलकाता हाईकोर्ट के पूर्व जज जस्टिस कर्णन को तमिलनाडु पुलिस ने कोयंबटूर से गिरफ्तार किया है. उनके वकील पीटर रमेश ने इसकी  पुष्टि की है. सुप्रीम कोर्ट की अवमानना के मामले में 6 महीने की सजा पाने के बाद से ही वे फरार चल रहे थे.
 
बता दें कि जस्टिस कर्णन को सुप्रीम कोर्ट के सात जजों की पीठ ने न्यायालय की अवमानना के मामले में दोषी करार देते हुए 6 महीने की कैद की सजा सुनाते हुए उन्हें गिरफ्तार करने का आदेश दिया था. कोर्ट के इस फैसले के बाद से ही जस्टिस कर्णन फरार चल रहे थे.
इस बीच जस्टिस कर्णन ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर मामले में रियायत बरतने की अपील की थी. जस्टिस कर्णन की तरफ से उनके वकील ने सुप्रीम कोर्ट में उनकी हस्ताक्षर वाली याचिका दायर की थी.
 
 
क्या है मामला? 
बता दें कि 23 जनवरी को कोलकाता हाईकोर्ट का जज रहते हुए जस्टिस कर्णन ने पीएम मोदी को एक चिट्खी लिखी थी. जिसमें उन्होंने सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के 20 वर्तमान जजों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए उनकी सूची भेजी थी. जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में कर्णन पर न्यायालय की अवमानना का दोषी करार देते हुए  6 महीने की कैद की सजा सुनाई है.