नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल नजीब जंग को एक बेहद तल्ख़ चिट्ठी लिखकर उनके साथ-साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी जमकर हमला बोला है. इसके अलावा दिल्ली सरकार ने आज कई जगहों पर होर्डिंग्स लगाकर पीएम से उन्हें परेशान न करने और काम कर देने की अपील की है. 

अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को ही यह खत दिल्ली महिला आयोग के अध्यक्ष पद को लेकर हुए विवाद पर लिखा है. इसमें सबसे पहले एलजी पर हमला बोला गया है और कहा गया है कि “एलजी साहब का कहना है कि वह खुद ही दिल्ली सरकार हैं… यह कैसे हो सकता है…? एक व्यक्ति खुद को सरकार कैसे कह सकता है…? फिर तो दिल्ली में तानाशाही हो जाएगी… इससे ज़्यादा हास्यास्पद बात नहीं हो सकती… दिल्ली सरकार का मतलब होता है, चुनी हुई सरकार, कोई व्यक्ति विशेष नहीं…”

साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधते हुए केजरीवाल ने लिखा है कि एलजी साहब ने पीएम के इशारे पर ही दिल्ली महिला आयोग को निष्क्रिय कर दिया है, जैसे एसीबी को कर दिया था. केजरीवाल ने कहा कि कानून और संविधान के मुताबिक महिला आयोग का मामला पूरी तरह एलजी के अधिकार क्षेत्र से बाहर है, इसलिए इस तरह महिला आयोग का दफ्तर बंद कराकर जबरदस्ती फाइल मंगवाना पूरी तरह असंवैधानिक और गैरकानूनी ही नहीं, बल्कि सरासर ब्लैकमेल है.

केजरीवाल ने लिखा कि एलजी की इस पूरी कवायद का एक ही मकसद नज़र आता है कि दरअसल प्रधानमंत्री उपराज्यपाल के जरिये दिल्ली सरकार को झुकाना चाहते हैं. आखिर में अरविंद केजरीवाल ने लिखा, “हमारे लिए महिला आयोग का मुद्दा अहम् की लड़ाई नहीं, बल्कि बेहद महत्वपूर्ण और संवेदनशील मुद्दा है, इसलिए एलजी साहब, पीएम जीते और हम सब हार गए… आपके पास महिला आयोग की फाइल भेज रहा हूं… इस पर साइन करके महिला आयोग को जल्द चालू करा दीजिए…”