नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आध्यात्मिक गुरु और रामकृष्ण मठ और मिशन के प्रमुख स्वामी आत्मस्थानंद महाराज का निधन हो गया है. स्वामी आत्मस्थानंद लंबी बिमारी के बाद रविवार को अपनी अंतिम सांस ली.
 
आत्मास्थानंद महाराज 99 वर्ष के थे. वे काफी लंबे समय से दक्षिण कोलकाता स्थित रामकृष्ण मिशन सेवा प्रतिष्ठान में भर्ती थे और यही रविवार को उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया.
 
 
आत्मस्थानंद महाराज के निधन की खबर के बाद पीएम मोदी ने शोक व्यक्त किया है. पीएम मोदी ने ट्विट करते हुए इसे व्यक्तिगत क्षति बताया है.
 
उन्होंमे आगे लिखा है कि स्वामी आत्मास्थानंद जी के पास अपार ज्ञान था. उनके आदर्श व्यक्तित्व को आगे की पीढ़ियां याद रखेंगी. मैं जब भी कोलकाता जाता था तो स्वामी आत्मास्थानंद जी का आशीर्वाद लेता था.
 

वहीं स्वामी आत्मास्थानंद महाराज के निधन पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी शोक जताया है. अपने ट्विट में उन्होंने लिखा है कि स्वामी आत्मस्थानंद महाराज का निधन मानवता के लिए क्षति है. उन्होंने अपना सारा जीवन सामाजिक एवं धार्मिक कार्यों को समर्पित कर दिया.