नई दिल्‍ली. सोमवार को विज्ञान भवन में भारतीय मज़दूर संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष बैजनाथ राय ने इंडियन लेबर कॉन्‍फ्रेंस के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में ही सरकार की लेबर नीतियों की जमकर आलोचना की. बैजनाथ ने कहा कि एप्परेन्टिस कानून में संशोधन हमसे बिना बातचीत के किया गया. राजस्थान में भी श्रम कानून को ऐसे ही बदला गया. वित्त मंत्रालय ने भी श्रमिक कानूनों में एकतरफा बदलाव किया है. 

आपको बता दें कि बैजनाथ जब बोल रहे थे तो उस समय कार्यक्रम में मोदी और अरुण जेटली दोनों मौजूद थे. प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री मंच पर बैठे रहे और भारतीय मज़दूर संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष उनके सामने अलग-अलग मुद्दों पर मज़दूर संगठनों की नाराज़गी को रखते चले गए. बैजनाथ ने कहा, “हम 2 सितंबर को दूसरे मज़दूर संगठनों के साथ मिलकर हड़ताल करेंगे…अगर सरकार ने हमारी चिंताओं को तब तक दूर नहीं किया…”