नई दिल्ली: केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने एलान किया कि शहीद होने वाले हर पैरामिलिट्री जवान के परिवार को एक करोड़ रूपये का मुआवजा दिया जाएगा. उन्होंने ये भी एलान किया कि पैरामिलिट्री के 34 हजार जवानों का प्रमोशन कर उन्हें हैड कॉन्सटेबल बनाया जाएगा.
 
 
इंडो-तिब्बत बॉर्डर पुलिस फोर्स के सैनिक सम्मेलन में हिस्सा लेते हुए राजनाथ सिंह ने ये बात कही. उन्होंने कहा कि पैरामिलिट्री के जवानों की शहादत और उनके बलिदान पर हर भारतीय नागरिक को गर्व है. पैरामिलिट्री के जवान मध्य और पूर्वी भारत में नक्सलियों से लोहा लेते हैं, जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों से लड़ाई लड़ते हैं और हमारी सीमाओं की रक्षा करते हैं.
 
गृहमंत्री ने इस दौरान कहा कि हमारे जवानों की शहादत का हर्जाना पैसों से नहीं चुकाया जा सकता लेकिन शहीद के परिवार को पैसों की कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए इसलिए मैं ये सुनिश्चित करूंगा कि शहीद होने वाले पैरामिलिट्री के हर जवान को कम से कम एक करोड़ रूपये का मुआवजा दिया जाए.