नई दिल्ली : ईवीएम टेम्परिंग पर लगातार बढ़ते विवाद को लेकर आज चुनाव आयोग विज्ञान भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहा है. मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने इस मामले पर कहा है कि ईवीएम से छेड़छाड़ पर किसी भी पार्टी ने कोई सबूत नहीं दिए हैं.
 
उन्होंने कहा कि ईवीएम में गड़बड़ी होने की खबर गलत है. जैदी ने कहा, ‘ईवीएम को लेकर कड़े सुरक्षा नियम हैं, इस मशीन का इंटरनेट से कोई कनेक्शन नहीं है. इसे हैक किया ही नहीं जा सकता है.’
 
यहां पढ़ें क्या बोले जैदी
– ईवीएम को हैक करना संभव नहीं
– ईवीएम पूरी तरह सुरक्षित है
– ईवीएम की हर माइक्रोचिप के साथ आइडेंटिफिकेशन नंबर होता है, जो कोई अधिकारी तक को पता नहीं रहता
– ईवीएम को लेकर कड़े सुरक्षा नियम हैं
– ईवीएम का सॉफ्टरवेयर कोड इनहाउस लिखा जाता है
– ईवीएम बनाते वक्त भी उसे हैक नहीं किया जा सकता
– भिंड और महाराष्ट्र में ईवीएम में गड़बड़ी की गलत खबर फैलाई गई
 
बता दें कि पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी के शानदार प्रदर्शन के बाद से ईवीएम पर राजनीतिक दल लगातार ही सवाल खड़े कर रहे थे. जिसके बाद अब चुनाव आयोग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इन सवालों के जवाब दिए हैं.
 
बहुजन समाज पार्टी और आम आदमी पार्टी ने प्रमुख रूप से ईवीएम का मुद्दा उठाया था. इस मशीन में गड़बड़ी के मामले पर दिल्ली विधानसभा की एक दिन की कार्यवाही के दौरान पार्टी विधायक सौरभ भारद्वाज ने ईवीएम से वोटिंग की पूरी प्रक्रिया को करके दिखाया. 
 
उन्होंने तीन बार मशीन से पर पार्टी को दो दो वोट दिए, पहले दो बार में रिजल्ट बिलकुल ठीक आए लेकिन तीसरी बार में रिजल्ट वो नहीं आए जिसे वोट किया गया था. आप के डेमो के बाद ईवीएम हैकिंग के मुद्दे पर और भी ज्यादा सवाल खड़े होने लगे.