लखनऊ: एसपी नेता आजम खान के खिलाफ जांच की मांग को लेकर शिया धर्म गुरु कल्वे जब्बाद ने सीएम योगी आदित्यनाथ से लखनऊ में उनके आवास पर मुलाकात की. कल्वे जव्वाद ने आजम पर वक्फ संपत्तियों पर अवैध कब्जे और सरकारी खजाने के दुरुपयोग का आरोप लगाया था. सीएम से मुलाकात के दौरान कुछ और शिया नेता भी थे.
 
 
आजम खान पर इल्जाम ये है कि यूपी में मंत्री रहते हुए उन्होंने वक्फ बोर्डों के चेयरमैन की नियुक्तियों में नियमों की अनदेखी की. वक्फ बोर्डों में अपने मनमाफिक चेयरमैन बनवाए और फिर इन चेयरमैनों के जरिए वक्फ बोर्ड की बेशकीमती कीमती जमीनों की खरीद-फरोख्त करवाई. इन प्रॉपर्टीज को अपने करीबियों के नाम भी करवाया.
 
 
शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद ने आजम खान पर वक्फ बोर्ड में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था. कल्बे जव्वाद के अनुसार वक्फ बोर्ड की जमीनों में करीब 400 करोड़ का घोटाला हुआ है. मेरठ में जो बड़े-बड़े औकाफ बिकवाए हैं उसके कागजात हमारे पास मौजूद हैं.  
 
 
जव्वाद ने कहा कि इनकी यूनिवर्सिटी की सुन्नी वक्फ में हजारों फाइलें जला दी गई, उसकी सुनवाई नहीं हुई. हजारों वक्फ खत्म कर दिए गए, उनकी फाइलें जला दी गईं.  इसलिए हमारी मौजूद सरकार से मांग है कि वक्फ बोर्ड की जमीनों के घोटाले की सीबीआई जांच कराई जाए.
 
 
आरोप ये भी है कि आज़म ने इस प्रॉपर्टी में अपने बेटे को सीक्रेट पार्टनर बनवा दिया और बाद में इस जमीन को बेचकर करोड़ों का मुनाफा कमाया. हालांकि दूसरी ओर आजम खान इन आरोपों को खारिज कर दिया है. आजम ने कहा है कि जो जमीन पर बोझ होता है, उसकी शिकायत नहीं होती है. भौंकने वाले मेरे पीछे इतने भौंकते हैं कि मेरी सारी जिंदगी भगाने में गुजर गयी है.