गुरुग्राम : इस बार रेप की गढ़ बन चुकी देश की राजधानी दिल्ली में नहीं बल्कि इससे सटे गुरुग्राम में एक बार फिर कुछ दरिदों ने हैवानियत की वारदात को अंजाम दिया.
 
गौरतलब है कि निर्भया कांड के दोषियों को कठोर सजा मिलने के बाद भी दरिदों की मानसिकता में किसी भी तरह का कोई बदलाव नहीं आया है. पीड़िता ने अपनी शिकायत में बताया कि तीन अज्ञात युवकों ने पहले तो मेरा अपहरण किया और फिर चलती कार में मेरे साथ गैंगरेप किया और फिर मुझे फेंककर फरार हो गए. पीड़िता अपनी जान बचाते हुए घर पहुंची. ये घटना दो दिन पूर्व यानी की 13 मई की है.
 
पीड़िता की उम्र 22 वर्ष है और वह गुरुग्राम के सेक्टर 17 की निवासी है. पुलिस को दी अपनी शिकायत में पीड़िता ने बताया कि वह अपने एक दोस्त के साथ कनॉट प्लेस गई थी और वहां से वापस लौटती समय रात के करीब 2 बजे उसके घर के पास से उसका अपहरण कर लिया गया. गैंगरेप करने के बाद वह लड़की को दिल्ली के नजफगढ़ इलाके में फेंक कर वहां से नो-दो ग्यारह हो गए.
 
इस बात की जानकारी खुद पीड़िता ने दिल्ली पुलिस को दी है. बता दें कि पुलिस ने पीड़िता की शिकायत दर्ज कर जांच शुरू कर दी है, तीन में से एक आरोपी का नाम दीपक बताया जा रहा है.