उत्तराखंड : राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत और राज्यपाल कृष्णकांत पॉल के साथ बद्रीनाथ मंदिर पहुंचे. जहां राष्ट्रपति ने मंदिर में पूजा की.  बता दें कि अब आम जनता भगवान बद्रीनाथ के दर्शन कर सकेगी. 3 मई को पीएम मोदी के द्वारा केदारनाथ मंदिर में रुद्राभिषेक किए जाने के साथ ही केदारनाथ मंदिर जनता के लिए खोल दिया गया था.
 
इससे पहले राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बद्रीनाथ दौरे के देखते हुए प्रशासन यात्रा व्यवस्था की तैयारियों में जुटा हुआ है. महामहिम की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर भी प्रशासन रिहर्सल कर रहा है. भगवान बदरी विशाल के कपाट इस बार ग्रीष्म काल के लिए 6 मई को सुबह 4 बजकर 15 मिनट पर खुलने जा रहे हैं. जिसके दर्शन के लिए देश-विदेश से श्रद्धालु बदरीनाथ धाम पहुंच रहे हैं. वहीं महामहिम के प्रस्तावित दौरे की तैयारी को भी अंतिम रूप दिया जा रहा है.
 
बद्रीनाथ दौरे के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति भवन में विश्राम करेंगे. बता दें कि बद्रीनाथ में भी एक राष्ट्रपति भवन हैं. जिस भवन में राष्ट्रपति को ठहराने की व्यवस्था की जा रही है उसे 1958 में पहले राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद के लिए बनवाया गया था. तब से इस इमारत को लोग राष्ट्रपति भवन के नाम से पुकारते है 
 
बता दें कि गंगोत्री, यमुनोत्री और केदारनाथ धाम के कपाट पहले ही खुल चुके हैं. चार धाम यात्रा 28 अप्रैल को शुरू हो चुकी है. राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी भी पांच मई को देहरादून दौरे पर आ रहे हैं. राष्ट्रपति छह मई को बदरीनाथ धाम के दर्शन करने पहुंचेंगे.