नई दिल्ली : चित्तौड़गढ़ में मेवाड़ यूनिवर्सिटी में कश्मीरी छात्रों के साथ हुए हिंसक बर्ताव को गंभीरता से लेते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कश्मीरी लोगों की सुरक्षा को लेकर एक बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि देश में कहीं भी अगर कश्मीरी बच्चों के साथ बदसलूकी करता है तो उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.
 
उन्होंने कहा, ‘राज्यों को कहा गया है कि कोई भी अगर कश्मीरी बच्चों के साथ कहीं बदसलूकी करता है तो उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.’ राजनाथ ने कहा, ‘मैं सभी राज्यों से अपील करता हूं कि देश में सभी जगह रहने वाले कश्मीरियों की सुरक्षा सुनिश्चित करें. वह भी भारत के समान नागरिक हैं.’
 
 
उन्होंने कहा, ‘मैंने युवाओं से अपील की है कि वह कश्मीरी युवकों के साथ अपने भाई की तरह बर्ताव करें. वह लोग भी देश के नागरिक हैं और हमारे परिवार का ही हिस्सा हैं.’
 
बता दें कि मेवाड़ यूनिवर्सिटी में बुधवार को कुछ स्थानीय लोगों ने 6 कश्मीरी युवकों की जमकर पिटाई की थी, जिसमें सभी कश्मीरी युवक बुरी तरह घायल हो गए थे. 
 
घटना उस वक्त हुई जब ये कश्मीरी छात्र बाजार में राशन के सामान की खरीदारी कर रहे थे. रिपोर्ट्स है कि उसी वक्त कुछ स्थानीय लोगों ने उन कश्मीरी छात्रों ले उनका नाम पूछा और वे किस राज्य के रहने वाले हैं यह पूछा. जब लोगों ने जाना कि वे कश्मीर के हैं तो लोगों ने उन्हें पीटना शुरू कर दिया. 
 
पुलिस फिलहाल इस मामले की जांच कर रही है. हालांकि सभी कश्मीरी छात्रों का इलाज करा दिया गया है, लेकिन हमलावर अभी भी फरार हैं. बता दें कि मेवाड़ यूनिवर्सिटी में करीब 500 छात्र कश्मीरी हैं तो वहीं 300 छात्र जम्मू से हैं. 
 
यह घटना राजस्थान की है वहीं यूपी मके मेरठ में भी कश्मीरी युवकों का वहिष्कार करने का ऐलान किया गया है. कुछ लोगों ने मेरठ की सड़कों में कश्मीरियों के विरोध में पोस्टर भी लगा दिए हैं और उन्हें मेरठ छोड़ने की चेतावनी दी है.