मेरठ: कश्मीर में चल रहे तनाव के बीच कुछ छुटभैया किस्म के लोगों को अपनी राजनीति चकमाने का मौका मिल रहा है. कुछ लोग इस बहाने सांप्रदायिक तनाव फैलाकर अपना राजनीतिक भविष्य बनाने की जुगत में हैं. ऐसा ही एक मामला यूपी के शहर मेरठ में देखने को मिल रहा है जहां कई जगहों पर पोस्टर लगाए गए हैं जिसमें लिखा है भारतीय सेना को पत्थर मारने वाले कश्मीरियों का बहिष्कार साथ ही ये भी लिखा हि कि कश्मीरियों यूपी छोड़ों वर्ना…
 
इसके नीचे जिस संगठन का नाम दिया गया है वो है उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना और नाम है अमित जानी. पुलिस ने उत्तर प्रदेश नव निर्माण सेना को तुरंत शहर से सारे पोस्टर हटाने का आदेश दिया है और ऐसा ना करने पर कार्रवाई का सामना करने की धमकी भी दी है. 
 
पुलिस ने अमित जानी के खिलाफ सांप्रदायिक तनाव फैलाने के आरोप में केस भी दर्ज कर लिया है. पुलिस के मुताबिक उसे जल्द ही गिरफ्तार भी कर लिया जाएगा. गौरतलब है कि राजस्थान के मेवाड़ यूनिवर्सिटी में भी भीड़ द्वारा कुछ कश्मीरी छात्रों की पिटाई का मामला सामने आया था. भीड़ ने उन्हें पत्थरबाज और आंतकवादी कहकर उनकी पिटाई की और राजस्थान छोड़कर वापस कश्मीर लौट जाने की धमकी दी.
 
मेरठ के एसपी आलोक प्रियदर्शी के मुताबिक उन्होंने संगठन के अध्यक्ष अमित जानी को तुरंत शहर में लगाए गए इस तरह के सभी पोस्टर हटाने का निर्देश दिया है और ऐसा ना करने पर कार्रवाई की चेतावनी दी है.