रेवाड़ी : सोशल मीडिया पर खराब खाने की वीडियो वायरल करने वाले बीएसएफ के बर्खास्त तेज बहादुर यादव आज (बृहस्पतिवार) अपने घर पहुंचे. गृह जिले हरियाणा के रेवाड़ी पहुंचने पर उनका माला पहनाकर जोरदार स्वागत किया गया. वहां मौजूद पत्रकारों को संबोधित करते हुए तेजबहादुर ने कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है. वो सरकार के मदद की अपील करेंगे, और वहां से भी कोई राहत नहीं मिलती है तो वो न्याय पाने के लिए कोर्ट का रुख करेंगे.
 
इससे पहले समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में तेजबहादुर यादव ने कहा कि मैं सरकार से निवेदन करता हूं कि वह मेरी बात सुने. मैं यह कहना चाहता हूं. मैने सैलरी या सुविधा बढ़ाने की बात नहीं कही, बल्कि मैंने तो सिर्फ अच्छे खाने और छुट्टियों का मामला उठाया था. तेजबहादुर ने कहा कि वह इस मामले को लेकर सरकार से अपील करेंगे, अगर सरकार बात नहीं सुनती है तो वह कोर्ट जाएंगे. तेजबहादुर कोर्ट में वर्दी पहनकर ही अपने इंसाफ की लड़ाई लड़ेंगे.
 
बुधवार 19 अप्रैल 2017 को बीएसएफ ने तेजबहादुर यादव को बर्खास्त कर दिया था. बीएसएफ के अनुसार उसकी अंदरुनी जांच में तेजबहादुर यादव को बीएसएफ की छवि को खराब करने का दोषी पाया गया था. बीएसएफ के इस निर्णय के बाद यादव की पत्नी शर्मिला ने कहा सरकार ने काफी गलत किया है. उन्होंने कहा था कि बीएसएफ के इस कदम से इन मां-बाप को झटका लगा है, जो अपने बेटों को देश की सेवा के लिए भेजना चाहते हैं.
 
बता दें कि जम्मू के पुंछ में अंतर्राष्ट्रीय बॉर्डर पर तैनात तेज बहादुर ने 9 जनवरी 2017 को सोशल मीडिया पर खराब खाने मिलने की शिकायत वाली वीडियो डाली थी. वीडियो के वायरल होने पर इस मुद्दे ने काफी तूल पकड़ा था. मामले को संज्ञान में लेते हुए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी बीएसएफ से इस मामले की पूरी जांच करने को कहा था. इस वीडियो के आने के बाद कई और जवानों के मिलते-जुलते वीडियो सामने आए थे.