नई दिल्ली : कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए अरविंदर सिंह लवली के ‘कांग्रेस पर बोझ वाले बयान’ पर शीला दीक्षित ने करारा जवाब दिया है. उन्होंने कहा है कि अगर वह कांग्रेस पर बोझ होती तो दिल्ली में लगातार तीन बार पार्टी कैसे जीतती.
 
रिपोर्ट्स के मुताबिक शीला ने कहा कि वह कांग्रेस पर बोझ कैसे हो सकती हैं, उनके नेतृत्व में ही कांग्रेस ने तीन बार दिल्ली की सत्ता का स्वाद चखा था. दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री से जब यह पूछा गया कि वह कांग्रेस को बचाने के लिए क्या करेंगी तो उन्होंने कहा कि इस बात का जवाब वह एमसीडी रिजल्ट आने के बाद देंगी.
 
 
शीला से जब यह पूछा गया कि क्या वह एमसीडी चुनाव में कांग्रेस के लिए प्रचार करेंगी तो उन्होंने कहा कि चुनाव को अब महज दो से तीन दिन रह गए हैं, अब कोई फायदा नहीं है.
 
बता दें कि बीजेपी में शामिल होने दूसरे दिन ही लवली ने कांग्रेस और शीला दीक्षित पर जमकर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि शीला दीक्षित दिल्ली नगर निगम चुनाव के प्रचार अभियान से पूरी तहर से दूर हैं और वह कांग्रेस में बोझ बन गई हैं. 
 
इसके अलावा, उन्होंने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन पर निशाना साधते हुए कहा था कि उन्हें परिश्रम करने की बजाए आराम पसंद हैं. बता दें कि अरविंदर सिंह लवली दिल्ली कांग्रेस के बड़े नेता माने जाते थे. वो सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं और दिल्ली कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं.