पटना: आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव ने कहा कि लालकृष्ण आडवाणी के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खेल कर दिया. आडवाणी को राष्ट्रपति बनाने की चर्चा थी लेकिन सीबीआई के मार्फत से सरकार ने उनका पत्ता काट दिया. 
 
लालू ने कहा कि सीबीआई पीएम मोदी के हाथों में है और सीबीआई ने ही सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि बाबरी केस में आडवाणी के खिलाफ आपराधिक साजिश करने का केस चलना चाहिए. जबकि माना जा रहा था कि आडवाणी इस बार राष्ट्रपति बनेंगे. इसमें कोई बड़ी बात नहीं है कि कोई भी ये समझ सकता है कि आडवाणी को राष्ट्रपति की दौड़ से बाहर करने के लिए ये मोदी सरकार की राजनीतिक साजिश है. 
 
ये भी पढ़ें:
 
लालू ने आरोप लगाया कि पीएम मोदी के फैसलों का विरोध करने वाले किसी भी व्यक्ति के खिलाफ खतरनाक राजनीतिक खेल खेलने में बीजेपी सबसे आगे है, वह अपने हों या पराए किसी में कोई फर्क नहीं रखती. लालू ने कहा कि जब गुजरात दंगे हुए थे उस समय पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी जी ने मोदी से राज धर्म का पालन करने को कहा था और आडवाणी ने मोदी का समर्थन किया था. उसके बाद भी मोदी ने आडवाणी के साथ ये काम किया.
 
ये भी पढ़ें: 
 
बता दें कि बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, केंद्रीय मंत्री उमा भारती को बड़ा झटका लगा है. इन तीनों नेताओं समेत 13 लोगों पर आपराधिक साजिश का केस चलेगा. हालांकि इन 13 लोगों में से 3 का निधन हो चुका है तो अब 10 लोगों के खिलाफ मुकदमा चलेगा.
 
ये भी पढ़ें: 
 
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि लखनऊ कोर्ट को 4 हफ्ते में इस मामले की सुनवाई शुरू करनी होगी. साथ में सुप्रीम कोर्ट ने यह भी आदेश दिया है कि जब तक कल्याण सिंह राजस्थान के राज्यपाल हैं तब तक उन पर कोई केस दर्ज नहीं हो सकता है.