पटना. इंडिया न्यूज ने एक और बड़ा स्टिंग ‘ऑपरेशन बंटवारा’ करके बिहार पुलिस में जाति को लेकर हो रहे भेदभाव की पोल खोल दी है. दरअसल बिहार पुलिस की रसोई में अलग-अलग जाति वालों का खाना अलग -अलग रसोईयों में बनता है.

हमारे अंडर कवर रिपोर्टर ने छिपे हुए कैमरे से जब पलिस वालों की रसोई में जाकर बातचीत की तो पता चला कि करीब 6500 पुलिसकर्मियों को जाति के आधार पर बंटवारा किया गया है. सिर्फ रसोई ही नहीं पुलिस के जवानों के बैरक भी जातियों के हिसाब से हैं.

पुलिसकर्मियों पर जाति का भूत इतना हावी है कि कोई पुलिस का जवान किसी दूसरे पुलिस जवान की रसोई में खाना नहीं खाता है. इस सच को सामने लाने के बाद माना जा रहा है कि जब बिहार पुलिस खाने में भी जाति को लेकर इस तरह से  भेदभाव करती है तो क्या अपनी जाति के किसी आरोपी पर कार्रवाई करने का साहस करती होगी?