चंडीगढ़ : पंजाब के नवनियुक्त मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने चुनावी घोषणा पत्र के मुताबिक एक बार फिर से किसानों के कर्ज माफी के प्रति प्रतिबद्धता जाहिर की है. कैप्टन ने शनिवार को चंडीगढ़ में मीडिया से बातचीत में कहा कि कर्ज माफी का वादा सरकार के घोषणापत्र में है और वे इसे हर हाल में पूरा करेंगे. इस दौरान कैप्टन ने कहा कि किसानों की कर्जमाफी के लिए अगर केंद्र सरकार मदद नहीं करती है तो सरकार नए विकल्पों पर काम करेगी लेकिन किसानों को कर्ज से राहत जरुर दी जाएगी. 
 
 
सीएम अमरिंदर सिंह में ‘डी मार्ट’ स्टोर का उद्घाटन करने गए थे. इस दौरान पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि अगर हमें केंद्र से कोई सहायता नहीं मिली, फिर भी हम किसानों को उनके ऊपर कर्ज के बढ़ते बोझ से मुक्ति दिलाएंगे और इसके लिए राज्य सरकार ने पहले ही तैयारियां शुरू कर दी हैं.
 
इस दौरान कैप्टन ने कहा कि नशा खत्म करने के लिए योजना शुरू कर दी गई है. लोगों को जनहित में किए जा रहे कार्य जल्द नजर आने शुरू हो जाएंगे. भ्रष्टाचार के सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए वचनबद्ध है. किसी तरह का भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.
 
बता दें कि किसान का कर्ज माफ, नशे की समस्या और भ्रष्टाचार ये तीनों वादे कांग्रेस के चुनावी घोषणापत्र का हिस्सा है. चुनाव से पहले अमरिंदर सिंह ने कहा था कि वह कांग्रेस सरकार के चुनावी घोषणा पत्र में किए गए हर वादे को पूरा करेंगे.