चंडीगढ़: उत्तर प्रदेश में किसानों का कर्ज माफ करने के बाद अब अन्य राज्यों में भी इसकी मांग उठने लगी है. इसी क्रम में बुधवार को कांग्रेस की पंजाब में नवगठित सरकार ने किसानों की कर्ज माफी का ऐलान किया हालांकि कांग्रेस कर्ज माफी के वादे को कब पूरा करेगी फिलहाल पंजाब सरकार ने इसकी कोई जानकारी नहीं दी.
 
के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह मंत्रीमंडल की पहली कैबिनेट में चर्चा हुई थी जिसमें उन्होंने करीब 150 फैसले लिए लेकिन कर्ज माफी का फैसला अभी तक कैप्टन सरकार ने नहीं लिया. इस पर कांग्रेस के प्रवक्ता राजीव गौड़ा ने बताया कि उनकी पार्टी हमेशा से किसानों के हित में फैसले लेती रही है.
 
यूपी में कर्ज माफी के बाद उन्होंने ये भी कहा, हम सीएम योगी के इस कदम को देखकर खुश हैं और हम भी अपने राज्य में यह करेंगे.  बता दें कि योगी के इस फैसले का समर्थन कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी किया है. 
 
उधर महाराष्ट्र सरकार में भी कर्ज माफी को लेकर मांग की गई. इस पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने कहा है कि हम उत्तर प्रदेश की सरकार के इस फैसले का हम अध्ययन करेंगे जब रिपोर्ट आ जाएगी तो हम इस आधार पर फैसला करेंगे.
 
गौरतलब है कि योगी सरकार ने मंगलवार को हुई कैबिनेट की पहली बैठक में प्रदेश के ढाई करोड़ किसानों का 1 लाख रुपए तक कर्ज माफ करने का ऐलान किया है. इस फैसले से राज्य सरकार के खजाने पर 36 हजार करोड़ रुपए का बोझ आएगा.
 
इसके अलावा किसानों को बड़ी राहत देते हुए 80 लाक मीट्रिक टन गेहूं खरीदने का भी फैसला किया है. जिसके लिए 5 हजार क्रय केंद्र बनाने का प्रस्ताव है. जिनकी निगरानी खुद सीएम योगी करेंगे.