नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी के नेता और संयोजक अरविंद केजरीवाल के घर हुई पार्टी पीएसी की बैठक में योगेन्द्र यादव और प्रशांत भूषण का इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है. पार्टी की कार्यकारिणी से दोनों नेताओं का इस्तीफा मंजूर किया गया है. पार्टी नेता आशीष खेतान का कहना है कि दोनों नेताओं ने 17 मार्च को इस्तीफा दिया था. जबकि दूसरी तरफ केजरीवाल को संयोजक पद से हटाने का प्रस्ताव एक बार फिर ख़ारिज हो गया है. 

बैठक के बाद पार्टी नेता कुमार विश्वास ने कहा कि प्रशांत और योगेन्द्र यादव की सब शर्तें मंजूर, लेकिन अरविंद केजरीवाल को हटाने की उनकी जिद पर राष्ट्रीय कार्यकारिणी ही फैसला ले सकती है. कुमार विश्वास ने इसे दुखद लेकिन सत्य बताया है. वहीं पार्टी नेता आशुतोष ने भी ट्वीट कर कहा है कि बातचीत फेल हो गई है. केजरीवाल को संयोजक के पद से हटाने का प्रशांत और योगेद्र का हठ जारी रहा. उधर, इस्तीफा स्वीकार होने की खबरें आने के बाद योगेन्द्र यादव ने ट्वीट कर प्रतिक्रिया दी है. इस्तीफा मंजूर किए जाने को हास्यापद बताते हुए योगेन्द्र यादव ने इस्तीफे की कॉपी दिखाने की मांग की है. 

दूसरी ओर केजरीवाल गुट ने कहा है कि योगेन्द्र यादव और प्रशांत भूषण की सारी शर्तें मान ली गई हैं, लेकिन अरविंद केजरीवाल को राष्ट्रीय संयोजक के पद से हटाने को लेकर वे तैयार नहीं है. इसके बाद ये तय हो गया है कि आम आदमी पार्टी की 28 तारीख को होने वाली राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में अब दो मसलों पर प्रमुखता से चर्चा होगी, क्या केजरीवाल राष्ट्रीय संयोजक पद से हटाए जाएंगे या योगेन्द्र और प्रशांत भूषण को राष्ट्रीय कार्यकारिणी से बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा.