दौसा. अभिनेत्री और सांसद हेमा मालिनी ने करीब एक हफ्ते पहले दौसा में जयपुर-आगरा हाइवे पर हुए एक्सीडेंट के बाद पहली बार ट्वीट कर हादसे में मारी गई बच्ची के पिता पर आरोप लगाया कि उन्होंने ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं किया, जिसका बच्ची के पिता ने खंडन किया है. इस हादसे में हेमा समेत पांच लोग घायल हुए थे और एक बच्ची की मौत हो गई थी.

बच्ची के पिता हर्ष खंडेलवाल ने हेमा के ट्वीट्स पर कहा, वह बताएं मैंने कौन से ट्रैफिक रूल का पालन नहीं किया.  मैंने बैल्ट नहीं पहनी थी या इंडिकेटर नहीं दिया, स्पीड में था या गलत कट ले रहा था, कोई एक कारण तो बताएं कि मैंने क्या किया. वह पहले जन प्रतिनिधि हैं, उन्हें कुछ भी कहने से पहले सोचना चाहिए.

दौसा पुलिस ने भी हेमा की बात खारिज की 
दौसा पुलिस ने हेमा मालिनी के उस दावे को खारिज कर दिया कि जिस बच्ची की मौत हुई उसका पिता लापरवाही से गाड़ी चला रहा था. दौसा पुलिस ने कहा है कि हेमा मालिनी की कार का ड्राइवर तेज रफ्तार से गाड़ी चला रहा था और हेमा मालिनी के ड्राइवर की लापरवाही से ही हादसा हुआ. पुलिस ने कहा है कि हेमा ने ट्वीट में जो दावा किया है वो गलत है. दौसा के डीएसपी राजेंद्र त्यागी ने कहा कि मर्सिडीज के चालक द्वारा तेज गति और लापरवाही से गाड़ी चलाने के कारण हादसा हुआ. हेमा मालिनी गलत कह रही हैं.

हेमा के ट्वीट से मचा बवाल
इससे पूर्व हेमा मालिनी ने ट्वीट कर लिखा कि, ‘मेरा दिल उस बच्ची के लिए रोता है जिसने बेवजह अपनी ज़िंदगी गंवा दी और उसके परिवार वालों को इस हादसे में चोटें आईं. काश, कि उसके पिता ट्रैफ़िक नियमों का पालन करते तो यह दुर्घटना टल सकती थी और उस बच्ची की जान बच सकती थी.’ उल्लेखनीय है कि हेमा मालिनी के ड्राइवर को हादसे के दिन ही गिरफ़्तार करने के बाद ज़मानत पर रिहा कर दिया गया था, लेकिन अपने इस ताज़ा ट्वीट के जरिये उन्होंने कहीं न कहीं उस दुर्घटना के लिए अपने ड्राइवर को क्लीन चिट देते हुए पीड़ित परिवार को दोषी ठहराया है.

एजेंसी इनपुट भी