मुंबई. भारतीय जनसंचार संस्थान (IIMC) के महानिदेशक केजी सुरेश ने ऐलान किया है कि सूचना प्रसारण मंत्रालय की तरफ से आईआईएमसी मुंबई फिल्म सिटी में फिक्की के साथ मिलकर एशिया का सबसे बड़ा एनिमेशन और विजुअल इफेक्ट्स का संस्थान खोलेगा.
 
 
आईआईएमसी एलुम्नाई एसोसिएशन के महाराष्ट्र चैप्टर के सालाना मीट IFFCO कनेक्शन्स में सुरेश ने कहा कि यह संस्थान अगले दो साल में चालू हो जाएगा जहां से हर साल करीब 1600 ट्रेंड प्रोफेशन्ल्स निकलेंगे.
 
 
मुंबई प्रेस क्लब में आयोजित समारोह में केजी सुरेश ने बताया कि संस्थान का नाम नेशनल सेंटर फॉर एनिमेशन, विजुअल इफेक्ट्स, गेमिंग एम्ड कॉमिक्स होगा जिसके लिए 200 करोड़ का बजट रखा गया है. डीजी ने बताया कि आईआईएमसी के अलग-अलग कैंपस अब क्षेत्रीय केंद्र के तौर पर काम करेंगे.
 
 
जम्मू उत्तर भारत का, कोट्टायम दक्षिण भारत का, ढेंकानाल पूर्वी भारत का, अमरावती पश्चिम भारत और आईजॉल पूर्वोत्तर भारत का रीजनल सेंटर होगा.
 
 
आईआईएमसी एलुम्नाई मीट कनेक्शन्स की शुरुआत दिल्ली से 19 फरवरी को हुई थी और कलकत्ता में 23 अप्रैल को समापन से पहले देश के अलग-अगल राज्यों में इस तरह के 12 मीट होंगे. एलुम्नाई मीट का इस साल का थीम कैंपस वाले टीचर्स था जिसके तहत अध्यापन कार्य से जुड़े संस्थान के पुराने छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया जा रहा है. मुंबई मीट में गायत्री श्रीवास्तव को सम्मानित किया गया. 
 
 
एलुम्नाई मीट की अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार सौरभ सिन्हा ने की जिसे मुंबई के डीसीपी वीरेंद्र मिश्रा, अभिनेत्री मिनी रिबेरो, पत्रकार राजीव रंजन चौबे, नीरज बाजपेई, देवीदत्त त्रिपाठी, कॉरपोरेट और एडवर्टाइजिंग इंडस्ट्री से ब्रज किशोर, विपिन ध्यानी, स्वरूप चक्रवर्ती, मिथुन रॉय, अनिमेष विश्वास के अलावा महाराष्ट्र चैप्टर के महासचिव सौरभ मिश्रा और राष्ट्रीय महासचिव मिहिर रंजन ने भी संबोधित किया.