नई दिल्ली. बीजेपी ने भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ के पूर्व मुखिया ए एस दौलत के उस बयान पर सफाई दी है जिसमें उन्होंने कहा था कि 1999 का कंधार हाईजैक कांड क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की गलती की वजह से और ज्यादा बिगड़ गया था. बीजेपी ने सफाई देते हुए कहा है कि सरकार ने कंधार पर फैसला देशहित में लिया था.

बीजेपी की तरफ से राज्य सभा सांसद एम.जे. अकबर ने कहा कि कंधार पर फैसला सोच-समझकर लिया गया और  उस समय की सरकार ने इस पर सभी दलों से राय ली थी.  इससे पहले दौलत अंग्रेजी अखबार ‘द टाइम्स ऑफ इंडिया’ से बातचीत में खुलासा किया था कि  24 दिसंबर, 1999 को जब जहाज अमृतसर में उतरा तो न केंद्र सरकार और न ही पंजाब सरकार कुछ फैसला कर पाई.

पांच घंटों तक सीएमजी की मीटिंग होती रही और प्लेन अमृतसर से उड़ गया और इस तरह आतंकियों पर काबू पाने का मौका देश ने गंवा दिया. बाद में सभी ने एक-दूसरे पर आरोप लगाए.