नई दिल्ली. एयर इंडिया प्रकरण के तूल पकड़ने पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू और नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू ने अफसोस जताया है हालांकि प्रधानमंत्री कार्यालय ने अतिविशिष्ट व्यक्तियों की यात्राओं के कारण एयर इंडिया की उडानों में देरी की हाल की घटनाओं को लेकर विवाद पैदा होने पर नागरिक उड्डयन मंत्रालय से रिपोर्ट मांगी है. 

आपको बता दें कि एयर इंडिया की गत 24 जून को लेह से दिल्ली आ रही उडान में रिजिजू को सीट देने के लिए एक बच्चे सहित तीन यात्रियों को विमान से उतार दिया गया था और विमान को लगभग एक घंटे तक रोका गया था. विपक्ष ने हस मुद्दे को लेकर सरकार को घेरते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से इस पर जवाब देने की मांग की है. इस प्रकरण पर वायु सेना की आंतरिक रिपोर्ट से तथ्यों का खुलासा होने तथा विपक्ष द्वारा इसे जोर शोर से उठाये जाने के बाद रिजिजू ने कहा कि मैं कानून का पालन करने में यकीन रखता हूं. इस पूरे मामले पर मुझे अफसोस है और आगे ऐसा नहीं होगा. मुझे मामले की जानकारी नहीं थी. 

इस बीच पत्र सूचना कार्यालय के महानिदेशक फ्रेन्क नरोन्हा ने ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री कार्यालय ने हाल में अतिविशिष्ट यात्राओं के कारण एयर इंडिया की उडानों में हुई देरी के बारे में नागरिक उड्डयन मंत्रालय से रिपोर्ट मांगी है. इस पर उड्डयन मंत्री ने कहा है कि इस संबंध मंत्रालय ने रिपोर्ट मांगी हैं और इनके मिलने पर प्रधानमंत्री को सचाई से अवगत कराया जायेगा. जिन यात्रियों को परेशानी हुई है हम उनसे माफी मांगते हैँ और भविष्य में ऐसा नहीं होने दिया जायेगा.