इलाहाबाद. साध्वी प्राची के विवादित बयानों के बाद विश्व हिंदू परिषद् ने उनसे किनारा कर लिया है. विहिप के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक अशोक सिंघल ने कहा कि साध्वी प्राची वीएचपी की सदस्य नहीं है. सिंघल खुद भी विवादित बयानों के लिए मशहूर हैं. सिंघल ने कहा कि साध्वी राजनीति से ताल्लुक रखती है व पहले चुनाव भी लड़ चुकी हैं लेकिन विहिप में चुनाव लड़ने वाले लोग नहीं आते. हांलांकि उन्होंने यह माना कि संभव है कि प्राची कभी वीएचपी में रही हों लेकिन अब वह वीएचपी की सदस्य नहीं है.

इलाहाबाद में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अशोक सिंघल ने कहा कि साध्वी का अपमानजनक तरीके से महात्मा गांधी पर टिप्पणी करना उचित नहीं है. उन्होंने कहा गांधी जी की मान्यता सर्वमान्य है. बता दें कि हाल ही में साध्वी प्राची ने महात्मा गांधी को ब्रिटिश एजेंट करार दिया था. राजनीतिक गलियारों में इस बयान की काफी आलोचना भी हुई थी.