हजारीबाग. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज झारखंड के हजारीबाग में पूर्वी भारत में बनने जा रहे सबसे बड़े भारतीय कृषि शोध संस्थान का शिलान्यास करते हुए कहा कि भारत को कृषि उत्पादन बढ़ाने की जरूरत है. मोदी ने कहा कि  पूर्वी भारत में दूसरी कृषि क्रांति होने की संभावना है. मोदी ने कहा कि जैसे हम बीमार होते हैं, वैसे ही हमारी धरती माता भी बीमार होती है. प्रधानमंत्री ने कहा कि इस संस्थान से बिहार के लोगों को भी फायदा होगा.

अत्याधुनिक शोध संस्थान में तीन स्नातकोत्तर कोर्स होंगे जो बागवानी एवं वानिकी, प्राकृतिक संसाधनों के प्रबंध एवं उसका उपयोग तथा प्रजातीय आधार पर फसल सुधार एवं संरक्षण विषयों में होंगे.