रोहतक : नए साल के मौके पर हरियाणा के रोहतक पहुंचे दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने तिजोरी-तोड़, भंडा-फोड़ रैली के दौरान जूते की घटना के बाद पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा. इस दौरान केजरीवाल ने एक सांकेतिक तिजोरी तोड़कर कई अहम दस्तावेजों की फाइलें निकालीं. जिनके आधार पर केजरीवाल ने दावा किया कि 2013 में पीएम मोदी ने गुजरात का सीएम रहते हुए बिडला और सहारा से करोड़ों रुपए लिए थे. 
 
 
रैली के तुरंत बाद केजरीवाल ने ट्वीट किया कि आप चाहे जूता फिंकवाओ या CBI रेड कराओ, नोटबंदी घोटाले और सहारा बिरला रिश्वतख़ोरी का सच मैं बताता रहूंगा. केजरीवाल ने दस्तावेजों के आधार पर खुलासा किया कि 15 अक्टूबर 2013 को बिरला समूह के यहां हुई छापेमारी के दौरान मिले दस्तावेजों और कंप्यूटरों में साफ एंट्रियां थीं कि उन्होंने गुजरात के मुख्यमंत्री को 25 करोड़ रुपए देने हैं जिसमें से 12 करोड़ दिए जा चुके हैं और 13 करोड़ बाकी हैं.
 
 
 
करीब डेढ़ घंटे तक चली तिजोरी-तोड़, भंडा-फोड़ रैली में केजरीवाल ने नोटबंदी पर अपने विचार रखे. साथ ही मोदी और उनके भ्रष्ट नेताओं की पोल खोली. उन्होंने केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले को गरीब विरोधी करार दिया.
 
रैली में केजरीवाल ने बताया कि मोदी ने कहां-कहां से और कितने पैसे लिए. केजरीवाल का कहना है कि मोदी ने नोटबंदी की घोषणा करने से पहले ही अपने जानकारों को इसके बारे में बता दिया था, ताकि वे अपना बचाव कर सकें.