नई दिल्ली.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 76 मंत्रियों में से 40 ने ही नगद राशि की घोषणा की है. जिसके मुताबिक अरूण जेटली सबसे ज्यादा अमीर हैं जबकि पीएम मोदी सबसे गरीब हैं.
 
अंग्रेजी अखबार द हिंदू ने कॉमनवेल्थ ह्यूमन राइट्स इनिशिएटिव की ओर से जुटाए गए आंकड़ों के हवाले से लिखा है कि मोदी के मंत्रियों के पास बड़ी संख्या में नगदी है.

अखबार ने लिखा है कि मंत्रियों के लिए बनाई आचार संहिता के हिसाब से हर साल उनको प्रधानमंत्री कार्यालय को अपनी संपत्ति का ब्यौरा और लेन-देन का ब्यौरा देना होता है.  लेकिन 76 में से सिर्फ 40 मंत्रियों ने इसकी जानकारी दी है. 
 

किसके पास कितनी नगदी
अरुण जेटली, वित्तमंत्री-  65 लाख
श्रीपद नाइक, राज्य मंत्री ( स्वतंत्र प्रभार)- 22 लाख
हंसराज अहीर गृह राज्य मंत्री- 10 लाख
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी- 89,700 रुपए
 
वहीं 23 मंत्रियों के पास 2 लाख रुपए से कम और 15 मंत्रियों के पास ढाई लाख से ज्यादा कैश था. परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर और जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने अपनी संपत्ति की घोषणा नहीं की है.
 
गौरतलब है कि आज ही प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि देश में बड़ी मात्रा में नगदी काले धन का सबसे बड़ा स्त्रोत है. उन्होंने कहा कि 21 वीं सदी के भारत में भ्रष्टाचार की कोई जगह नहीं है.