नई दिल्ली. सरकार के नोटबंदी के फैसले के बाद से ‘सोनम गुप्ता बेवफा है’ लिखे हुए नोट भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुए थे. एक नोट आने के बाद सोनम गुप्ता और उनकी मां के तरफ से संदेश लिखे हुए नोटों की फोटो भी सोशल मी​डिया पर आई थी. 
 
हालांकि, इन नोटों पर जो लिखा गया है, उसकी सच्चाई सामने नहीं आई लेकिन लोगों ने इस पर अपनी-अपनी तरह से तफरी की. पर खास बात यह है कि ‘सोनम गुप्ता बेवफा है’ का मामला देश के सबसे प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग संस्थानों तक भी पहुंच गया है. 
 
आईआईटी में पूछा गया सवाल
टाइम्स आॅफ इंडिया की खबर के मुताबिक आईआईटी खड़गपुर में एक प्रोफेसर ने प्रोबेबलिटी के पेपर में ‘सोनम गुप्ता बेवफा है’ के बारे में सवाल पूछा था. इसके अलावा आईआईटी दिल्ली में नोटबंदी को लेकर भी सवाल पूछे गए थे. 
 
आईआईटी दिल्ली में हयूमैनिटीज और सोशल साइंस डिपार्टमेंट की हेड प्रोफेसर रविन्दर कौर ने बताया कि सामाजिक विज्ञान में अक्सर समकालीन घटनाओं और उनसे जुड़ी सैद्धांतिक अवधारणाओं के बारे में विद्यार्थियों के विचार जानने की कोशिश की जाती है. 
 
कौर ने बताया कि ऐसे मुद्दों में वे काफी रूचि लेते हैं और उत्साह से उनका जवाब देते हैं. इस तरह के सवाल उन्हें ज्यादा तार्किक और रचनात्मक रूप से सोचने के लिए प्रेरित करते हैं. 
 
सवाल को छात्रों ने किया पसंद
इसी तरह आईआईटी गुवाहाटी में प्रोबेबलिटी के पेपर में ‘सोनम गुप्ता बेवफा है’ से जुड़ा सवाल किया गया था. इस संबंध में विद्यार्थियों से उनके विचार पूछे गए थे. खास बात यह भी रही कि इस सवाल को छात्रों ने काफी पसंद किया और इसे फेसबुक पर भी शेयर किया गया. इस पर 150 से ज्यादा शेयर और 600 से ज्यादा लाइक्स मिले.
 
प्रोफेसर कौर का कहना है कि देश में बड़े नोटों के बंद होने के बाद आत्महत्या की दर पर पड़ने वाले प्रभावों के बारे में भी छात्र-छात्रों से सवाल किया गया था.