नई दिल्ली: दो दिसंबर की आधी रात से नेशनल हाईवे पर टोल की वसूली फिर शुरु हो जाएगी, इसी के साथ टोल प्लाजाओं पर हजारों कार्ड स्वाइप मशीनें लगाने का निर्णय लिया गया है. इसी के साथ रेलवे में भी टिकट बिक्री में कैशलेस को बढ़ावा देने के लिए हजारों नई ऑटोमैटिक टिकट वेडिंग मशीनों के ऑर्डर दिए गए हैं. हालांकि अस्पताल, मेट्रो स्टेशन, शमशान घाट जैसी इमरजेंसी सेवाओं में 15 दिसम्बर तक यह छूट बरकरार है.
 
 
सरकार ने दी थी 2 दिसंबर तक छूट
बता दें कि केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने घोषणा की थी कि 2 दिसंबर की आधी रात तक लोगों को टोल टैक्स नहीं देना पड़ेगा. 9 नवंबर से सरकार ने 500-1000 के नोटों के इस्तेमाल पर रोक की घोषणा की थी. हालांकि लोगों को हो रही पैसे की किल्लत को देखते हुए सरकार ने कुछ दिनों के लिए जरूरी सेवाओं में इनके इस्तेमाल की छूट दी थी. 
 
 
रेलवे ने भी किए कई उपाय
रेलवे ने कैशलेस को बढ़ावा देने के लिए कई अतिरिक्त इंतजाम किए हैं. रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने कहा है कि वैसे तो रेलवे का 99.99 फीसदी ऑर्गनाइजेशन लेनदेन कैशलेस है, लेकिन यात्रियों के साथ 28 फीसदी ट्राजेंक्शन अभी भी नकदी में होता है. रेलवे ने इसे 100 फीसदी कैशलेस करने का बीड़ा उठाया है. फिलहाल रेलवे स्टेशनों पर 2478 ऑटोमैटिक टिकट वेडिंग मशीनें काम कर रही हैं, लेकिन अब हमने 2500 और मशीनों के लिए ऑर्डर दिया है.
 
 
PTI की खबर के अनुसार दो दिसंबर यानी शुक्रवार के बाद से 500 रुपये के पुराने नोटों को पेट्रोल पंप और एयर टिकटों की बुकिंग में इस्तेमाल नहीं किया जा सकेंगे. 500 के पुराने नोटों में धांधली होने की खबरे आने के बाद अब सरकार इन पुराने नोटों को पूरी तरह बंद करने की तैयारी में है. अगर अब आपके पास 500 के पुराने नोट है तो अब आप उसे सिर्फ बैंक अकाउंट में ही जमा करवा सकते हो.