नई दिल्ली. आईपीएल के पूर्व प्रमुख और फेमा उल्लंघन के आरोपी ललित मोदी ने एक इंटरव्यू में सपष्ट कहा है कि मुख्यमंत्री बन जाने के कारण वे मेरे पक्ष में गवाही देने नहीं आ पायीं. मोदी ने कहा, वसुंधरा राजे से मेरे संबंध 30 वर्ष पुराने हैं. उस संबंध के बारे में सबको पता है. वह परिवार और मेरी पत्नी की लंबे समय से निकट मित्र हैं लेकिन दुर्भाग्य से जब मामले पर सुनवाई हुई तो वह मुख्यमंत्री बन चुकी थीं इसलिए वह गवाह बनने नहीं आईं. जो बयान उन्होंने दिए हैं, वह अदालत के रिकॉर्ड में है. 

मोदी की पत्नी को पुर्तगाल लेकर गईं थी राजे
मोदी ने दावा किया कि जब मेरी पत्नी बीमार थीं तो राजे और सुषमा ने मेरा सहयोग किया. मोदी ने कहा, ‘मेरी पत्नी को पुर्तगाल कौन ले गया, वसुंधरा राजे ले गईं. इस बात को कोई नहीं जानता, मैं इसे अब रिकॉर्ड के रूप में सामने रखता हूं.’ उन्होंने कहा कि वह उनकी पत्नी मीनल के साथ 2012 और 2013 में गई थीं. 

एजेंसी इनपुट भी