मुरादनगर:  मुरादनगर के एक गांव में एक जीजा द्वारा साली से दुष्कर्म की घटना सामने आई है. जिसकी सजा के तौर पर उसे पंचायत ने 10 जूते मारे जाने की सजा सुनाई है.
 
पीड़ित अपनी मां की मौत के बाद से बहन के ससुराल में दो सालों से रह रही थी. पंचायत द्वारा सजा सुनाये जाने के बाद गांव छोड़कर चला गया है. यह घटना रावली रोड के पास स्थित गांव की है. अभी पुलिस ऐसी किसी भी घटना से इनकार कर रही है.
 
आज से पांच साल पहले रावली रोड के पास स्थित गांव के रमेश की शादी जिला हापुड़ के गांव की रहने वाली सलमा से हुई थी. दो साल पहले सलमा की मान की मौत हो जाने की वजह से उसकी छोटी बहन कमला को अपनी बहन के पास आ कर रहना पड़ा. रविवार को देर रात सलमा किसी काम से पडोसी के यहां गयी थी. इसके बाद रमेश ने कमला से दुष्कर्म किया.
 
विरोध करने पर रमेश ने उसे धमकी दी कि मुंह खोलने पर उसके साथ अच्छा नहीं होगा. हालांकि कमला ने सब कुछ सलमा को बता दिया.इसके बाद सलमा ने अपने पति की करतूत पर हंगामा कर दिया.  इन सबके बावजूद रमेश के घरवालों ने कमला को ही हर एक चीज के लिए जिम्मेदार ठहराया. इसके बाद यह मामला पंचायत में पहुंचा और वहां रमेश को 10 जूतों की सजा सुनाई गयी. (सभी नाम बदले हुए हैं.)