नगरोटा: जम्मू-कश्मीर के नगरोटा में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच हुई मुठभेड़ में दो अधिकारियों समेत सेना के सात बहादुर जवानों ने शहीद हो गए. यहां तीन आतंकी भी ढ़ेर हुए हैं. मारे गए आतंकियों के पास से 3 AK 47, 20 AK मैगजीन, 16 पिस्टल, 31 ग्रेनड, लांचर, खाने पीने के सामान, पाकिस्तान के बिस्किट, कोल्ड्रिंक, दवाइयां, वायरलेस सेट और अन्य सामान बरामद बरामद किए हैं. साथ ही आतंकियों के पास से आतंकी अफजन गुरू के नाम का पर्चा मिला है. इस पर्चे में अफजल के बदले का जिक्र किया गया है.
 
 
तलाशी अभियान फिर से तेज
नगरोटा हमले के बाद तलाशी अभियान बुधवार सुबह फिर से तेज हो गया है. सेना की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि नगरोटा में कॉर्प्स मुख्यालय से तीन किलोमीटर दूर सुबह भारी हथियारों से लैस कुछ आतंकियों ने आर्मी यूनिट को निशाना बनाया. इसके बाद सेना ने भी जवाबी कार्रवाई शुरू कर दी, दोनों ओर से ही फायरिंग की गई. 
 
 
ये जवान हुए शहीद
नगरोटा हमले में शहीद होने वाले जवानों में ग्रेनेडियर राघवेंद्र सिंह (राजस्थान), राइफलमैन असीम राय, पीओ खोटांग (नेपाल), हवलदार सुखराज सिंह (पंजाब), लांस नायक कदम संभाजी यशवंतराव, जनकपुरी (महाराष्ट्र), मेजर गोस्वामी कुणाल मन्नदिर, पंढरपुर (महाराष्ट्र) और मेजर अक्षय गिरिश कुमार, कोरमांगला (बैंगलुरु) शामिल हैं.
 
हाई अलर्ट पर वैष्णो देवी धाम
हमले के बाद सुरक्षा के मद्देनजर नगरोटा के आस-पास के सभी स्कूलों को बंद करा दिया गया है, तो वहीं आतंकी हमले की गंभीरता को देखते हुए कटरा में वैष्णो देवी धाम और दूसरी धार्मिक जगहों पर अलर्ट जारी कर दिया गया है. 
 
 
सांबा के चमलियान में भी आतंकी हमला
वहीं सांबा के चमलियान में भी आतंकियों ने घुसपैठ की कोशिश की, जिसे बीएसएफ ने नाकाम कर दिया. बीएसएफ के जवानों ने आतंकियों पर जवाबी कार्रवाई करते हुए फायरिंग की. दोनों ही ओर से फायरिंग की गई. फायरिंग में बीएसएफ ने तीन आतंकियों को मार गिराया. 
 
बता दें कि पाकिस्तान के खिलाफ भारत के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से पाकिस्तान काफी बौखला सा गया है, आए दिन पाकिस्तान की तरफ से सीजफायर का उल्लंघन किया जा रहा है. आतंकियों की तरफ से फायरिंग की जाने की घटनाएं भी बढ़ गई हैं.