नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा संसदीय दल की बैठक में अपने सभी सांसदों और विधायकों से 8 नवम्बर से 31 दिसम्बर तक की बैंक स्टेटमेंट मांगे जाने के बाद आम आदमी पार्टी ने आपत्ति जाहिर की है.
 
आम आदमी पार्टी का कहना है कि बीजेपी के सभी सांसद और विधायक पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को अपनी बैंक डिटेल्स देने की जगह  देश की जनता को इसकी जानकारी दें. इसका अलावा इनका कहना है कि 8 नवंबर के बाद की संपत्ति से जुड़ी जानकारियों के साथ-साथ पिछले 6 महीने की बैंक स्टेटमेंट भी जारी की जानी चाहिए.
 
आम आदमी पार्टी ने अपने एक बयान में कहा है कि ‘फिलहाल ना तो बैंकों में पैसा है और ना ही एटीएम में और नौकरी पेशा लोगों को सैलरी मिलने का समय आ गया है ऐसे में मोदी सरकार को देश को बताना चाहिए कि उनकी क्या तैयारी है?
 
 
आप नेता आशुतोष ने इस मामले में कहा है कि सरकार के इस फैसले के चलते देश की अर्थव्यवस्था गर्त में जा रही है और जनता पैसे पैसे को मोहताज है. उन्होंने मांग की है कि बीजेपी सांसद और विधायक अपने परिवार की बैंकिंग जानकारियों के साथ-साथ अपने सभी जमीन के सौदों की जानकारियां भी सार्वजनिक करें.