नई दिल्ली.  प्रधानमंत्री मोदी के नोटबंदी के फैसले के पीछे कालाधन और जाली नोटों को रोकना बताया जा रहा है. लेकिन अब जो जानकारी मिल रही है उससे आप और खुश हो सकते हैं. 

ईकोनॉमिक टाइम्स नाऊ की खबर के मुताबिक मोदी सरकार इन पैसों सबको 50 लाख रुपए तक का लोन सिर्फ 6 से 7 फीसद के बीच में देने की तैयारी कर रही है. लेकिन यह लोन उन्हीं को मिलेगा जिनके पास अपना घर नहीं है और उन लोगों पहले कभी किसी बैंक से किसी तरह का लोन न ले रखा हो.

 
इस योजना को लेकर सरकार और रिजर्व बैंक माथामच्ची कर रही है उम्मीद है कि केंद्र सरकार 2017 के आम बजट से ठीक से पहले इसका ऐलान भी कर सकती है. आपको बता दें कि सरकार इस बार आम बजट को फरवरी के पहले हफ्ते में पेश करने की तैयारी कर रही है. 
 
गौरतलब है कि मंदी की मार झेल रियल इस्टेट सेक्टर की हालत नोटबंदी के बाद से और भी खराब हो गई है. लेकिन अगर मोदी सरकार ‘सबको घर’ योजना के तहत इतने सस्ते दरों में लोन बांटने का ऐलान करती है तो इस सेक्टर में एक बार फिर से बूम आने की उम्मीद है.
 
इससे पहले प्रॉपर्टी से जुड़े एक्सपर्ट नोटबंदी के फैसले को बेकार बता रहे थे लेकिन कुछ लोग इसकी तारीफ भी करते हैं. उनका कहना है कि इससे प्रॉपर्टी में काला धन खत्म हो जाएगा और लेन-देन में ईमानदारी बरती जाएगी जिसका फायदा सबको मिलेगा.