नई दिल्ली: कालेधन पर रोक लगाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले कि विपक्ष लगातार विरोध कर रहा है. संसद के शीतकालीन सत्र की शुरुआत से ही दोनों ही सदनों में विपक्ष इस फैसले का विरोध कर रहा है.
 
आज नोटबंदी का 21वां दिन है और शीतकालीन सत्र को शुरू हुए 12 दिनों से भी ज्यादा का समय हो चुका है. नोटबंदी के फैसले पर विपक्ष लगातार सदन में हंगामा कर रहा है.
 
 
आज भी लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही विपक्ष के हंगामे के साथ ही शुरू हूई. लोकसभा और राज्यसभा दोनों ही सदनों में विपक्ष नोटबंदी को लेकर हंगामा कर रहा है. 
 
राज्यसभा की कार्यवाही को शुरू होने के साथ ही विपक्ष के हंगामे के कारण 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई थी, फिर इसे फिर से की 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. वहीं लोकसभा को पहले 11:30 बजे तक के लिए फिर बाद में 12 बजे तक के लिए और फिर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है.
 
विपक्ष कर रहा है नारेबाजी
विपक्ष लगातार पीएम मोदी से मांग कर रहा है कि वे संसद में आएं और नोटबंदी के मुद्दे पर बयान भी दें. राज्यसभा में विपक्ष लगातार नारे लगा रहा है कि ‘प्रधानमंत्री हाउस में आओ, मोदीशाही नहीं चलेगी’. वहीं केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कल सदन में कहा था कि पीएम मोदी सदन में आकर नोटबंदी के मुद्दे पर बयान देंगे. 
 
 
बता दें कि पीएम मोदी लोकसभा और राज्यसभा दोनों ही सदनों की कार्यवाही में एक-एक बार शामिल हो चुके हैं, लेकिन उन्होंने नोटबंदी के मुद्दे पर कोई भी बयान सदन में अभी तक नहीं दिया है.