संभल. जम्मू और कश्मीर के राजौरी में पाकिस्तान की ओर से किए गए सीजफायर उल्लंघन में शहीद जवान सुधीश कुमार के परिवार ने यूपी सरकार पर पक्षपात करने का आरोप लगाया है. परिवार ने कहा कि जब वह सुधीश कुमार की अंतिम संस्कार तब तक नहीं करेंगे जब तक खुद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव नहीं आते. 
 
शहीद के ​पिता धर्मपाल ने कहा कि जब तब अखिलेश यादव यहां नहीं आते, अंतिम संस्कार नहीं होगा. उन्होंनेे कहा कि जाति के आधार पर भेदभाव नहीं होना चाहिए. उनके बेटे की शहादत को भी वही सम्मान दिया जाना चाहिए जो दूसरे शहीदों को मिला है. शहदी सुधीश संभल जनपद के पंसुखा गांव के रहने वाले थे. उनका शव आज उनके गांव पहुंचने वाला है. 
 
परिवार को 20 लाख का मुआवजा
बता दें कि राजपूताना राइफल के सिपाही सुधीश 16 अक्टूबर को शाम 5 बजे अपनी पोस्ट केडीएल पर तैनात थे. इसी दौरान जंगल पोस्ट से पाकिस्तानी सेना के शॉर्प शूटर ने स्नाइपर राइफल से फायर किया और सिर में गोली लगने से सुधीश कुमार की मौत हो गई. 
 
सोमवार को शहीद सुधीश कुमार को जम्मू में श्रद्धांजलि दी गई थी. फिर राजौर में उन्हें सैन्य विदाई दी गई. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शहीद के परिवार को 20 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है.