नई दिल्ली. देश का सबसे विवादित मुद्दा बन चुके कावेरी विवाद में आज सुप्रीम कोर्ट फिर से मामले की सुनवाई करेगा. सुनवाई दोपहर 2 बजे शुरु होगी. आज की सुनवाई में कोर्ट कर्नाटक सरकार की याचिका पर सुनवाई करेगा, और निर्णय करेगा कि याचिका सुनवाई योग्य है या नहीं. साथ ही कोर्ट मामले को संवैधानिक पीठ को भेजे जाने के मुद्दे पर भी विचार कर सकता है. 
 
आज होने वाली सुनवाई को लेकर अटॉर्नी जरनल मुकुल रोहतगी ने कहा है कि ट्रिब्यूनल के आदेश के खिलाफ दायर याचिका को संवैधानिक पीठ के समक्ष भेजा जाना चाहिए. 
 
बता दें कि इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के द्वारा कावेरी मुद्दे पर गठित कमेठी ने कोर्ट में अपनी रिपोर्ट सौंप दी. अब इस मामले की सुनवाई आज (मंगलवार) को होगी. सूत्रों के अनुसार इस रिपोर्ट में सामाजिक और तकनीकी पहलुओं को बताया गया है. रिपोर्ट के अनुसार कर्नाटक और तमिलनाडु में पानी की कमी को लेकर किसान बदहाल है. किसान और मछुवारे के सामने बेरोजगारी और आर्थिक तंगी से जूझ रहे है. 
 
इस मामले में पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा भी इसमें कूद पड़े हैं. उन्होंने कर्नाटक के लिए न्याय की मांग करते हुए अनिश्तिकालीन भूख हड़ताल शुरू कर दी थी. बता दें कि उच्चतम न्यायालय ने कर्नाटक को 6 अक्टूबर तक तमिलनाडु को कावेरी नदी का 6000 क्यूसेक पानी छोड़ने और केन्द्र से कावेरी जल प्रबंधन बोर्ड का गठन करने को कहा है. उच्चतम न्यायालय के दिए आदेश के बाद देवगौड़ा ने अचानक यह निर्णय लिया.