Hindi national cauvery issue, tamilnadu, Karnatka, Supreme Court, report http://www.inkhabar.com/sites/inkhabar.com/files/field/image/Cauvery-Issue-Supreme-Court-Report.jpg

kissa kursi kaa

Home » National » कावेरी मुद्दे पर गठित कमेटी ने सुप्रीम कोर्ट में सौपी रिपोर्ट, मंगलवार को होगी सुनवाई

कावेरी मुद्दे पर गठित कमेटी ने सुप्रीम कोर्ट में सौपी रिपोर्ट, मंगलवार को होगी सुनवाई

कावेरी मुद्दे पर गठित कमेटी ने सुप्रीम कोर्ट में सौपी रिपोर्ट, मंगलवार को होगी सुनवाई

| Updated: Monday, October 17, 2016 - 12:55
Cauvery Issue, Tamilnadu, Karnatka, Supreme Court, Report

report submitted to the Supreme Court appointed committee on the Cauvery issue

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
कावेरी मुद्दे पर गठित कमेटी ने सुप्रीम कोर्ट में सौपी रिपोर्ट, मंगलवार को होगी सुनवाईreport submitted to the Supreme Court appointed committee on the Cauvery issueMonday, October 17, 2016 - 12:55+05:30
नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट के द्वारा कावेरी मुद्दे पर गठित कमेठी ने कोर्ट में अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. अब इस मामले की सुनवाई मंगलवार को होगी. सूत्रों के अनुसार इस रिपोर्ट में सामाजिक और तकनीकी पहलुओं को बताया गया है. रिपोर्ट के अनुसार कर्नाटक और तमिलनाडु में पानी की कमी को लेकर किसान बदहाल है. किसान और मछुवारे के सामने बेरोजगारी और आर्थिक तंगी से जूझ रहे है. 
 
सामाजिक पहलू
कर्नाटक के मंड्या जिले में बड़ी संख्या में खुदकुशी के मामले सामने आये है. कर्नाटक सरकार ने कावेरी बेसिन के 48 तालुका में से 42 तालुका में केंद्र सरकार के गाइड लाइन के तहत सूखा घोषित किया है. कर्नाटक और तमिलनाडु दोनों राज्यो को तमिलनाडु और पुडुचेरी में सिंचाई के लिए लोगों के हित के लिए काम करना चाहिए और कर्नाटक के विकास के बारे में सोचना चाहिए। साथ ही राज्य के लोगों को इस बाबत शिक्षित करना चाहिए.  
 
तकनीकी पहलू
*पानी के वितरण के लिए जो तकनीक लगाई गई है वो पुरानी है. पानी के मोल को किसी ने नहीं समझा.
*किसानों को दिए जाने वाले पानी का तरीका एक सदी पुराना है. इस लिए पानी की कमी को दूर करने के लिए नई तकनीक का इस्तेमाल करना चाहिए. पानी के बंटवारे के लिए पाइप का इस्तेमाल करना चाहिए.
*समुद्र के तट के इलाकों में भूमिगत जल का इस्तेमाल नहीं हो सकता क्योंकि समुद्र की वजह से पानी नमकीन हो जाता है इसलिए मैटुर जलाशय से ही सिंचाई संभव है.
*तमिलनाडु सरकार की खेती को दी जाने वाली सब्सिडी की सुविधा तभी सफ़ल हो सकती है जब फ़सल के समय पूरा पानी उपलब्ध हो.
*पीने के पानी के लिए बंटवारे सिस्टम में बेहतरी लाने की जरूरत है. पानी के बहाव और कटाव के लिए ऑटोमैटिक वॉटर मैनजेमेंट सिस्टम लगाने की जरूरत है. 
*सम्बन्धित राज्यो के सिचाई प्रबंधन को किसानों के बीच पानी के बराबर बंटवारे की जरूरत है.  
 
First Published | Monday, October 17, 2016 - 11:51
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
Web Title: report submitted to the Supreme Court appointed committee on the Cauvery issue
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

फोटो गैलरी

  • नई दिल्ली में अभिनेत्री कंगना राणावत और सैफ अली खान, स्वास्थ्य के लिए "मैक्स बूपा वाक" के दौरान
  • मुंबई में फिक्की लेडीज ऑर्गेनाइजेशन "मुंबई मैजिक बाजार 2017" के उद्घाटन के दौरान अभिनेत्री करिश्मा कपूर
  • आगरा में ताजमहल देखने पहुंचे अभिनेता संजय दत्त और उनकी पत्नी मान्यता दत्त
  • मुंबई में नील नितिन मुकेश की शादी के रिसेप्शन के दौरान अभिनेत्री रेखा
  • अभिनेत्री मंदाना करीमी मुंबई में शाहिद कपूर के 36 वें जन्मदिन के जश्न के दौरान
  • राजद नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन को सुप्रीम कोर्ट पेशी के बाद, नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से तिहाड़ जेल ले जाते पुलिसकर्मी
  • लखनऊ में बसपा प्रमुख मायावती, अपना वोट डालने के बाद वोटर आईडी कार्ड और तर्जनी ऊँगली पर निशान दिखाते हुए
  • बीजेपी नेता उमा भारती अपना वोट डालने के बाद ऊँगली पर निशान दिखाते हुए
  • नई दिल्ली में बीजेपी में शामिल होने के बाद, दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी के साथ अभिनेता रवि किशन
  • सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत, नई दिल्ली के इंडिया गेट पर "21 गन सेल्यूट इंटरनेशनल विंटेज कार रैली 2017" को हरी झंडी दिखाते हुए
Shauryagatha