श्रीनगर. घाटी में आतंकियों के द्वारा घुसपैठ की कोशिश और पुलिसकर्मियों पर हमले थमने का नाम नहीं रहे है. रविवार को अनंतनाग में आतंकियों ने एक टीवी टॉवर की सुरक्षा में तैनात पांच पुलिसकर्मियों से उनकी बंदूकें छीन ली और फरार हो गए. प्रशासन ने लापरवाही बरतने के आरोप में पांचों पुलिसवालों को हिरासत में ले लिया है, साथ ही खबरें आ रही है कि सभी पुलिसकर्मियों को नौकरी से निकाल दिया गया है. इसके अलावा सीआरपीएफ व पुलिस के एक संयुक्त दस्ते ने आतंकियों की धरपकड़ के लिए पूरे इलाके में तलाशी अभियान शुरु कर दिया है. 
 
बता दें कि पिछले दस दिनों में पुलिसकर्मियों से हथियार लूटे जाने की यह दूसरी घटना है. इससे पहले 8 अक्तूबर को पुलवामा जिले के तुमलहाल गांव में आतंकियों ने  दो पुलिसकर्मियों से उनकी सरकारी राइफलें लूट ली थी. इससे पहले 7 अक्तूबर को शोपियां जिले के रेशनाग्री गांव में सुरक्षाकर्मियों से आतंकवादियों ने हथियार छीनने की कोशिश की थी. जिसके बाद मुठभेड़ में एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई थी. बता दें कि घाटी में हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से हथियार छिनने की अब तक 27 घटनाएं हो चुकी हैं. 
 
खबरों के मुताबिक आतंकियों ने पांच हथियार छीने है. साथ ही पुलिसकर्मियों पर फायरिंग भी की गई. जिसमें वो लोग बच गए. पुलिस अधिकारियों के अनुसार रविवार रात दलवाश गांव में दूरदर्शन के लो पावर ट्रांसमीटर स्टेशन पर तैनात गार्ड्स पर हमला कर दिया और पांच सर्विस राइफल छीन ले गए.