नई दिल्ली. आईसीएआई (भारतीय चार्टर्ड अकाउंटेंट्स संस्थान) चार्टर्ड अकाउंटेंसी के सिलेबस में बड़ा बदलाव करने जा रहा है. इन बड़े बदलावों में नए विषयों का शामिल किया जाना और ओपन बुक टेस्ट शामिल है. 
 
इस समय  चार्टर्ड अकाउंटेंसी का कोर्स तीन भागों में बंटा हुआ है. इसमें पहला लेवल है सीपीटी का, दूसरा है आईपीसीसी का और तीसरा लेवल पर आखरी परीक्षा होती है. सिलेबस में किये गए बदलावों के अनुसार सीपीटी को कठिन किया जाने वाला है. फाउंडेशन कोर्स में दो नए सब्जेक्ट शामिल किये जा रहे हैं. जिसके बाद अब सीपीटी में एमसीक्यू के साथ-साथ व्याख्यात्मक सवाल भी शामिल किए जाएंगे. 
 
फाउंडेशन कोर्स में जो दो नए सब्जेक्ट शामिल होंगे उनका नाम है बिजनेस कॉरस्पोंडेंस एंड रिपोर्टिग और बिजनेस एंड कमर्शियल नॉलेज. इतना ही नहीं इन बदलावों के बाद से सीए के लिए रजिस्ट्रेशन 10वीं के बजाय 12वीं से होगा.अब फाउंडेशन एग्जाम के बाद चार महीने की पढाई  विद्यार्थियों को करनी होगी. 
 
फाउंडेशन एग्जाम की ही तरह आईपीसीसी के लेवल पर भी  इकोनोमिक्स फोर फाइनेंस विषय को शामिल किया गया है और बदलाव अंतिम परीक्षा के पैटर्न में भी देखने को मिलेंगे. अंतिम परीक्षा में रिस्क मैनेजमेंट, इंटरनेशनल टेक्सेशन, फाईनेंशियल सर्विसेज एंड कैपिटल मार्केट्स, ग्लोबल फाईनेंशियल रिपोर्टिग स्टैंडर्ड, इकोनोमिक्स लॉ एंड मल्टी डिसिप्लीनरी केस को जोड़ा गया है. 
 
अंतिम पेपर ओपन बुक टेस्ट पैटर्न पर आधारित होगा और सवाल केस स्टडीज से पूछे जाएंगे. इन बदलावों के अनुसार अब से फाउंडेशन कोर्स का पेपर 200 मार्क्स की जगह 400 मार्क्स का होगा. इसमें ऑब्जेक्टिव और सब्जेक्टिव दोनों एग्जाम 200-200 मार्क्स के होंगे. इस से पहले तक सिर्फ 200 मार्क्स का ऑब्जेक्टिव एग्जाम होता था.