Home » National » 'मिसाइल मैन' अब्दुल कलाम की जयंती आज, पढ़िए अखबार बेचने से राष्ट्रपति बनने तक का सफर...

'मिसाइल मैन' अब्दुल कलाम की जयंती आज, पढ़िए अखबार बेचने से राष्ट्रपति बनने तक का सफर...

'मिसाइल मैन' अब्दुल कलाम की जयंती आज, पढ़िए अखबार बेचने से राष्ट्रपति बनने तक का सफर...

By Web Desk | Updated: Saturday, October 15, 2016 - 12:22
Dr APJ Abdul Kalam, Birth Anniversary, Former President, Missile Man, Life, birth day dr. apj abdul kalam , memories with apj abdul kalam, president of india, defense scientist, drdo news delhi, isro, defense news, Teacher, Litrature, current news, latest news in hindi

special story on remembering dr apj abdul kalam 85th birth anniversary

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
नई दिल्ली. भारत के पूर्व राष्ट्रपति और स्व. डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का आज जन्मदिन है. इस मौके पर पूरा देश उन्हें याद कर रहा है. भारत रत्न अब्दुल कलाम को लोग कई नाम से जानते हैं. कोई उन्हें 'मिसाइल मैन' तो कोई 'सफल साइंटिस्ट' और युवाओं के बीच तो वो 'यूथ आइकॉन' के तौर पर मशहूर हैं. देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर डॉ. कलाम को श्रद्धांजलि अर्पित की है.
 
अब्दुल कलाम को शिक्षक की भूमिका बेहद पसंद थी. इतना ही डॉ कलाम की पूरी जिंदगी शिक्षा को समर्पित रही है. डॉ कलाम साहित्य में रुचि रखने के साथ कविताएं लिखने और वीणा बजाने का भी शौक रखते थे. जहां एक ओर डॉ. कलाम वैज्ञानिक कलाम साहित्य में रुचि रखते थे, वहीं दूसरी ओर वो अध्यात्म से भी गहराई से जुड़े हुए थे.
 
एक मछुआरे के घर पर जन्में थे डॉ. कलाम
डॉ अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्तूबर, 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम में एक मछुआरे के घर पर हुआ था. डॉ. कलाम के पिता अपनी नावों को मछुआरों को किराए पर देकर अपने परिवार का खर्च चलाते थे. वहीं अपनी आरंभिक पढ़ाई पूरी करने के लिए कलाम ने घर-घर जाकर अखबार बांटने का काम भी किया था. डॉ. कलाम को 1981 में भारत सरकार ने देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान, पद्म भूषण और फिर, 1990 में पद्म विभूषण और 1997 में भारत रत्न प्रदान किया. राष्ट्रपति के रूप में डॉ. कलाम का कार्यकाल 25 जुलाई 2002 से 25 जुलाई 2007 तक रहा है. 
 
विज्ञान के क्षेत्र में दिलाई देश को कई उपलब्धियां
डॉ. कलाम का कहना था कि 'एक राष्ट्र भ्रष्ट्राचार मुक्त हो और राष्ट्र बहुत खूबसूरत दिमाग से बने, जिसके लिए मैं दृढता से महसूस करता हूं कि पिता, मां और शिक्षक तीन प्रमुख सामाजिक सदस्य हैं.' बता दें कि डॉ. कलाम भारत को अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में दुनिया का सिरमौर राष्ट्र बनना देखना चाहते थे. इतना ही नहीं इसके लिए उन्होंने अपने जीवन में कई उपलब्धियों को भारत के नाम भी किया है. डॉ. कलाम ने अपनी आखिरी सांस पिछले साल 27 जुलाई 2015 को शिलांग एक कार्यक्रम के दौरान ली. 
 
सोशल मीडिया पर लोग दे रहे हैं श्रद्धांजलि
मिसाइल मैन अब्दुल कलाम के जन्मदिन के अवसर पर लोग उन्हें याद करते हुए सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि दे रहे हैं. इतना ही नहीं ट्वीटर पर भी सुबह से ही #APJAbdulKalam टॉप ट्रेंड्स में बना हुआ है. 
First Published | Saturday, October 15, 2016 - 12:22
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
Web Title: special story on remembering dr apj abdul kalam 85th birth anniversary
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

फोटो गैलरी

  • मुंबई में निकलोडियन "किड्स च्वाइस पुरस्कार 2016" के दौरान अभिनेत्री दीपिका पादुकोण
  • मुंबई में अभिनेत्री मलाइका अरोड़ा और अमृता अरोड़ा, फैशन डिजाइनर मनीष मल्होत्रा ​​के जन्मदिन समारोह के दौरान
  • मथुरा के बरसाना में बच्चों के साथ अभिनेता अक्षय कुमार
  • मुंबई में "टाइम्स लिटफेस्ट 2016" के दौरान अभिनेत्री कंगना रानौत
  • कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया, बेंगलुरु में बाबा साहेब डॉ भीमराव अंबेडकर को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देते हुए
  • नई दिल्ली में योग गुरू बाबा रामदेव, खेल और युवा मामलों के राज्य मंत्री विजय गोयल से मुलाकात के दौरान
  • पटना में बिहार के राज्यपाल राम नाथ कोबिंद और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, बाबा साहेब डॉ भीमराव अम्बेडकर को उनकी पुण्यतिथि के अवसर पर श्रधांजलि देते हुए
  • नई दिल्ली में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, वियतनाम के रक्षा मंत्री जनरल नगो गवां लिंच का स्वागत करते हुए
  • चेन्नई में AIDMK नेता जे. जयललिता को श्रधांजलि देने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
  • चेन्नई में तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता के पार्थिव शरीर को, एक एम्बुलेंस द्वारा उसके निवास पोएस गार्डन ले जाया गया