नई दिल्ली. केंद्र सरकार की सहयोगी पार्टी और एनडीए की घटक पार्टी शिवसेना ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के लिए दूसरे कार्यकाल की हिमायत की है. शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि वह अगले हफ्ते राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात करेंगे. प्रणब मुखर्जी सर्वश्रेष्ठ राष्ट्रपति सिद्ध हुए हैं.
 
राज्यसभा में शिवसेना के नेता ने कहा कि पिछले पांच साल में उन्होंने साबित कर दिया है कि वह क्षमतावान और गैर-विवादित राष्ट्रपति हैं, जिन्हें राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मामलों की अच्छी जानकारी है. वहीं, कांग्रेस की ओर से कहा गया है कि पार्टी आलाकमान इस मुद्दे पर फैसला करेगी.
 
बता दें कि प्रणव मुखर्जी 2012 में राष्‍ट्रपति पद के चुनाव के वक्‍त मातोश्री गए थे. उस वक्त बाल ठाकरे ने भाजपा का साथ तोड़कर कांग्रेस मुखर्जी का समर्थन किया था. शिवसेना ने राष्‍ट्रपति प्रणव मुखर्जी को दूसरा कार्यकाल दिए जाने का समर्थन किया है वहीं कांग्रेस प्रवक्‍ता शोभा ओझा ने कहा कि हम आपको जल्‍द ही बताएंगे. हमें नहीं पता कि शिवसेना ने क्‍या कहा. इस पर पार्टी आलाकमान फैसला लेगा. 
 
संजय राउत का यह बयान ऐसे समय में आया है जब शिवसेना के भाजपा से संबंध तनावपूर्ण है. हालांकि दोनों पार्टियां केंद्र और महाराष्‍ट्र की सरकार में साझेदार हैं. मुखर्जी का कार्यकाल 25 जुलाई 2017 को खत्म होगा. खबरों के मुताबिक राष्ट्रपति भवन ने सरकार से संपर्क किया है ताकि लुटियंस जोन में उनके लिए एक उपयुक्त आवास ढूंढा जा सके. भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद को छोड़ कर उनका कोई भी उत्तराधिकारी दो बार राष्ट्रपति नहीं बना है.