अमरावती. आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने काला धन की समस्या से निजात पाने के लिए 500 और 1000 रुपए के नोट को तत्काल बंद करने की मांग की है. नायडू ने दावा किया कि ऐसा करने से काला धन और भ्रष्टाचार मिटेगा. एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि भ्रष्ट लोगों और काला धन कमाने वालों के लिए राजनीति पनाहगाह बन गई है. राजनीति में कुछ लोग जनादेश का अच्छे से दुरुपयोग करते हैं.
 
नायडू ने इस बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक खत भी लिखा है. उन्होंने कहा है कि आज प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर 1000 और 500 रुपए के नोट खत्म करने और बैंक में लेन देन को प्रोत्साहित करने का अनुरोध किया है. सीएम नायडू ने कहा कि जब एक बार ये मुद्रा खत्म हो जाएगी त वोटों की खरीदारी भी इससे खत्म हो जाएगी.
 
काले धन का पता लगाने के मकसद से केंद्र सरकार के हालिया IDR स्कीम का हवाला देते हुए सीएम नायडू ने कहा कि देशभर में इस स्कीम से 65 हजार करोड़ रुपए का खुलासा हुआ. केवल हैदराबाद में ही 13 हजार करोड़ रुपए का खुलासा हुआ, इनमें से 10 हजार करोड़ रुपए एक ही व्यक्ति के थे. उन्होंने कहा कि ये व्यक्ति कौन है, इसकी हमें ज्यादा जानकारी नहीं है.
 
सीएम नायडू ने कहा कि आप 40 से 45 फीसदी का दंड अदा करते हैं और इससे आपका काला धन सफेद बन जाता है. उन्होंने कहा कि ये ठीक नहीं है. बता दें कि  बाबा रामदेव ने भी काले धन पर अंकुश लगाने के लिए बड़े नोटों को बंद करने की मांग कर चुके हैं.