नई दिल्ली. पाकिस्तान के खिलाफ की गई सर्जिकल स्ट्राइक पर सियासी जंग लगातार बढ़ती जा रही है. अब केंद्रीय रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के एक बयान के बाद फिर से सियासी संग्राम छिड़ता दिखाई दे रहा है. पर्रिकर ने अपने एक बयान में सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय सेना के साथ-साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी दिया है, जिसका विपक्ष ने विरोध किया.
 
पर्रिकर ने कहा कि पीओके में हुई सफल सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय सेना को तो जाता ही है, लेकिन इसका सबसे ज्यादा श्रेय पीएम मोदी को जाता है जिनकी निगरानी में यह ऑपरेशन किया गया. इसी बयान के बाद से ही विपक्ष ने रक्षा मंत्री पर हमला बोल दिया. विपक्ष ने पर्रिकर के इस बयान का विरोध करते हुए कहा है कि ऑपरेशन का श्रेय बीजेपी को न दिया जाए. इसके लिए पर्रिकर को माफी मांगनी चाहिए. 
 
‘पर्रिकर ने सेना का अपमान किया’
वहीं कांग्रेस ने भी पर्रिकर के बयान के बाद जोरदार हमला बोलते हुए कहा है कि पर्रिकर ने अपने बयान से सेना का अपमान किया है, उन्हें इसके लिए माफी मांगनी चाहिए.
 
कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि रक्षा मंत्री को सैनिकों के अपमान पर पूरे राष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए. कांग्रेस ने कहा 1962, 1965 1971, 1999 और अनेकों सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान सैनिकों के बलिदान और साहस को झुठला कर रक्षा मंत्री ने सेना का अपमान किया है.
 
कांग्रेस ने कहा देश के रक्षा मंत्री सेना के साहस और शौर्य का अपमान कर रहे हैं, सेना द्वारा 68 साल में दी गई कुर्बानी को कम बता रहे हैं. इतना ही नहीं कांग्रेस ने यह भी कहा कि बीजेपी, सेना के बलिदान पर राजनीतिक फायदा लेने की कोशिश कर रही है.
 
बता दें कि जहां एक ओर कांग्रेस का दावा है कि यह सबसे पहली सर्जिकल स्ट्राइक नहीं थी, वहीं बीजेपी का कहना है कि यह पहली सर्जिकल स्ट्राइक है, इससे पहले ट्रांस बॉर्डर स्ट्राइक हुई थी.

 
आप ने साधा निशाना
आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने ट्वीट किया है कि यह बहुत शर्म की बात है कि देश के रक्षा मंत्री सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय आर्मी की जगह पीएम को दे रहे हैं.
 
उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेताओं में होड़ लगी है सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय लेने की, सेना की जगह वह खुद को ही श्रेय दे रहे हैं. क्या कोई खुद गन लेकर एलओसी तक गया था ?
 
 
क्या कहा पर्रिकर ने ?
मनोहर पर्रिकर ने सर्जिकल स्ट्राइक का फैसला लेने पर पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि मोदी के फैसले और सफल योजना की वजह से ही भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया, इसका श्रेय सेना को तो जाता ही है लेकिन सबसे ज्यादा श्रेय मोदी जी को ही जाता है. उनके शासन में देश की सीमाएं पहले से ज्यादा सुरक्षित हुई हैं.