नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बार की विजयादशमी के खास होने की बात कही है. नियंत्रण रेखा के पार भारतीय सेना के जरिए सर्जिकल स्ट्राइक कर आंतकी ठिकानों को तहस नहस करने के बाद मोदी के इस बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं. मोदी का कहना है कि किसी मजबूत देश के लिए सक्षम सशस्त्र बल जरूरी हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान पीएम ने कहा कि आने वाले कुछ दिनों में हम विजया दशमी मनाएंगे. इस बार की विजयादशमी सब के लिए खास होने वाली है. मोदी का इशारा भारतीय सेना के जरिए की गई सर्जिकल स्ट्राइक से था. जिसमें सेना ने पाक को मुंहतोड़ जवाब दिया था.
 
सर्जिकल स्ट्राइक करते हुए सेना ने उरी हमले में मारे गए भारतीय सेना के जवानों की शहादत का बदला लिया. भारतीय सेना ने सीमा पार सर्जिकल स्ट्राइक करते हुए आंतकवादियों को मार गिराया था. 
 
बुराई पर अच्छाई के प्रतीक दशहरे पर पीएम ने सभी को शुभकामनाएं भी दी है. इस मौके पर मोदी ने जनसंघ के संस्थापक और पूर्व अध्यक्ष दीनदयाल उपाध्याय के जीवन और सीख पर आधारित 15 पुस्तकों का सार-संक्षेप जारी किया. 
 
शक्ति ही सब कुछ: भागवत
सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने भी बयान दिया है. उन्होंने कहा कि शक्ति के बिना कुछ नहीं होता है. हमने अभी तक अपनी ताकत नहीं दिखाई थी. लेकिन सीमा पर हुए मौजूदा हमलों के बाद शक्ति दिखाने से दुनिया भी हमारे साथ खड़ी होने लगी है.