नई दिल्ली. सर्जिकल स्ट्राईक को लेकर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ने अपने मुखपत्र ऑर्गनाईजर में बड़ा दावा किया है. ऑर्गनाईजर में लिखा गया है कि भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राईक के तहत आतंकियों के 5 लॉन्च पैड के साथ पाकिस्तानी सेना की दो पोस्ट को बर्बाद कर दिया था. इस समाचार पत्र में लिखा गया है कि एच आवर 28 सितंबर की आधी रात का समय था. सेना की शब्दावली में एच आवर हमले के समय को माना जाता है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
आरएसएस ने अपने मुखपत्र में प्रकाशित किया है कि पाकिस्तान की सेना की दोनों पोस्ट आतंकियों के लॉन्च पैड के साथ बनी थी. भारतीय सेना के हमले में पाकिस्तानी सेना की दोनों पोस्ट भी ध्वस्त हो गई. दरअसल भारतीय सेना का टरगेट उरी की 19 वीं डिवजीन, कुपवाड़ा की 28 वीं डिंवीजन और राजौरी की 25 वीं डिवीजन के अधिकार क्षेत्र में शामिल था.
 
आरएसएस ने सेना की सर्जिकल स्ट्राईक को लेकर महत्वपूर्ण तथ्यों का प्रकाशन किया है, जिसमें लिखा गया है कि पीओके में आतंकियों के अड्डे को निशाना बनाना और पाकिस्तान को संदेश देना कि भारत हमलावरों को सजा देगा. दरअसल हमले के दौरान मिलिट्री ऑपरेशन रूम में काफी हलचल थी. 
 
यही नहीं दो दिनों तक अर्थात 28 सितंबर और 29 सितंबर को काफी चहल-पहल रही. सभी अधिकारी भारतीय सेना के कदमों को लेकर सर्किय थे. आतंकियों के लॉन्च पैड्स पर मौजूद लोगों को सेना ने ध्वस्त कर दिया था और पाकिस्तानी सेना की दो पोस्ट भी तबाह हो गई थी. भारतीय सेना के ऑपरेशन के बाद सेना अपना काम करके लौट आई.