नई दिल्ली. सर्जिकल स्ट्राइक से बौखलाई पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई सहित आतंकी संगठन अब भारतीय संसद, अक्षरधाम मंदिर, दिल्ली सचिवालय, केंद्रीय सचिवालय सहित कई महत्वपूर्ण स्थानों पर हमला करने की साजिश रच  रही है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
एक अंग्रेजी अखबार की खबर के अनुसार पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने आतंकी संगठन जैश-ए-मौहम्मद को सर्जिकल स्ट्राइक का बदला लेने का फरमान सुनाया है. जिसके बाद जैश ने भारत में मौजूद अपने स्लीपर सेल को जगाना शुरु कर दिया है. कई खुफिया एजेंसियों के साथ-साथ जम्मू-कश्मीर सीआईडी ने भी इस खबर की केंद्र सरकार को सूचना दी है. 
 
इंटेलीजेंस एजेंसिज के हाथ लगे दस्तावेजों के अनुसार अगर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद भारतीय संसद पर हमले में नाकाम रहा तो वो राजधानी दिल्ली के अन्य महत्वपूर्ण स्थानों जैसे दिल्ली सचिवालय, अक्षरधाम मंदिर और लोटस टेंपल पर आतंकी हमला करवा सकता है.
 
खबरें आ रही है कि आईएसआई इसके लिए मौलाना मसूद अजहर के अलावा तंजीम जैश उल हक की भी मदद ले सकती है. बता दें कि तंजीम जैश उल हक संगठन जैश-ए-मोहम्मद से अलग हुआ है, इसका मुखिया मौलाना अब्दुरहमान है. इसने ही  कंधार विमान हाईजैक में महत्‍वपूर्ण भूमिका थी. 
 
खुफिया विभाग के सूत्रों के अनुसार जैश ने भारत में मौजूद अपने स्लीपर सेल को निर्देश दिया है कि कि अगर किसी मशहूर जगह पर हमला न हो पाया तो भीड़भाड़ वाली जगह को निशाना बनाया जाए.