पटना. बिहार इंटर टॉपर्स घोटाले में आर्ट्स की टॉपर रही रूबी राय की आंसरशीट्स की रिपोर्ट आ गई है. फॉरेंसिक साइंस लैब की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि रूबी राय ने अपनी कॉपी खुद नहीं लिखी थी. उसके लिए किसी एक्सपर्ट ने कॉपी लिखी थी. एसएसपी मनु महाराज ने इसकी पुष्टि भी कर दी है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि जांच में जो भी तथ्य जरूरी होंगे उन्हें जुटाने के लिए किसी से भी पूछताछ की जा सकती है. इस मामले में नई गिरफ्तारियां भी हो सकती है. एफएसएल की रिपोर्ट आने के बाद एसआईटी इस मामले में नए सिरे से फिर कार्रवाई कर सकता है. रूबी से लेकर बच्चा राय और लालकेश्वर तक से पूछताछ हो सकती है. 
 
पॉलिटिकल साइंस को कहा प्रॉडिकल साइंस
दरअसल, बिहार के आर्ट्स रिजल्ट में टॉपर घोषित रूबी राय ने पॉलिटिकल साइंस को प्रॉडिकल साइंस कहा था. जिसके बाद जांच शुरू हुई तो घोटाले का खुलासा हुआ. रिव्यू टेस्ट में भी रूबी फेल हो गई थी. जिसके बाद उसका रिजल्ट भी रद्द किया जा चुका है. रूबी को रिव्यू टेस्ट में फेल होने के तुरंत बाद गिरफ्तार कर लिया गया था. फिलहाल वह जमानत पर है.
 
एसआईटी कर रही है जांच
जांच में पता चला कि विशुन राय कॉलेज के प्रिंसिपल बच्चा राय से लेकर बिहार बोर्ड के अध्यक्ष और सचिव तक फर्जी रिजल्ट और मेरिट सूची के खेल में शामिल थे. फिलहाल एसआईटी इस मामले की जांच कर रही है और आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट भी पेश कर दी गई है.
 
बता दें कि रूबी जांच टीम के सवालों का जवाब भी नहीं दे सकी थी. इसके बाद उसे फेल घोषित कर दिया गया था. उसने जांच टीम और पुलिस से कम से कम सेकंड डिवीजन में पास कराने का आग्रह भी किया था.