श्रीनगर. जम्मू एवं कश्मीर में सुरक्षाबलों के साथ संघर्ष में घायल हुए 13 वर्षीय बच्चे जुनैद अहमद भट्ट की शनिवार को मौत हो गई. जिसके बाद घाटी में उपजी हिंसा में मृतकों की संख्या बढ़कर 91 हो गई है. श्रीनगर के सैदपोरा के रहने वाले जुनैद अहमद भट्ट को शुक्रवार को इलाज के लिए सौरा के शेर-ए-कश्मीर इन्स्टीच्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एसकेआईएमएस) में भर्ती कराया गया था. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि बच्चे की आज सुबह मौत हो गई. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
श्रीनगर में  शुक्रवार को हिंसक प्रदर्शनकारियों पर काबू पाने के लिए पुलिस द्वारा किए गए बल प्रयोग में घायल एक किशोर जुनैद की शनिवार की सुबह अस्पताल में मौत हो गई. इससे श्रीनगर और उसके साथ सटे इलाकों में तनाव बढ़ने के साथ ही कई जगह हिंसक झड़पों का दौर भी शुरु हो गया. स्थिति पर काबू पाने के लिए प्रशासन ने डाउन टाउन व उसके साथ सटे इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया. इस बीच, अलगाववादियों के आह्वान पर आज लगातार 92वें दिन भी कश्मीर बंद के चलते सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त है.
 
जुनैद की मौत की खबर फैलते ही पूरे डाउन टाउन में तनाव फैल गया. ईदगाह, सईदपोरा, लालबाजार, सौरा और अन्य इलाकों में बडी संख्या में युवक उत्तेजक नारेबाजी करते हुए सड़कों पर उतर आए. उन्होंने सुरक्षाबलों पर पथराव शुरु कर दिया. स्थिति पर काबू पाने के लिए सुरक्षाबलों ने भी बल प्रयोग किया. दिवंगत जुनैद के जनाजे में सैंकडों की तादाद में लोग शामिल हुए. उसके जनाजे के दौरान भी आजादी समर्थक और पाकिस्तान के नारे गूंजे. उसके जनाजे से लौटते हुए कई युवकों ने वाहनों पर भी पथराव किया. उन्हें खदेडने के लिए सुरक्षाबलों को बल प्रयोग करना पडा.